स्वदेशी रंग बिरंगी राखियों से सजा बाजार

2:51 pm or August 5, 2022

मयंक भार्गव

बैतूल ५ अगस्त ;अभी तक;  भाई-बहन के परस्पर स्नेह और अटूट प्यार के पर्व रक्षाबंधन के पूर्व भाईयों की कलाई पर सजने रंग-बिरंगी राखियों का बाजार सज गया है। 11 अगस्त को आने वाले रक्षाबंधन को मात्र एक सप्ताह का समय बचा है। जिससे राखी की दुकानों पर ग्राहक पहुंचाने लगे है। इस बार राखी में पिछले साल की तुलना में 15 से 20 फीसदी तक महंगी हुई है। इस बार बाजार चाइना की राखियां नदारद है। जिसमें बच्चों के लिए आई लाइट वाली राखिया, कार्टून वाली राखिया, स्टोन, नग वाली राखिया सभी स्वदेश में बनी है। संभवत: इसी के चलते थोड़ी महंगी भी है। बाजार में 5 रूपए से लेकर 600 रूपए तक की राखियां उपलब्ध है। शहर में लल्ली चौक में नपा के सामने, गंज, सदर में रंग बिरंगी राखियों का पूरा बाजार सज गया है।

रक्षाबंधन पर्व के पूर्व ही शहर में जगह-जगह राखियों की दुकाने सज जाती है। रक्षाबंधन का त्यौहार इस बार 11 अगस्त को है इसके पूर्व ही पिछले एक सप्ताह से राखियों की दुकाने सजने लगी है। गंज क्षेत्र के राखी विक्रेता अनिल जैन, कोठीबाजार के राखी विक्रेता शेख महफूज ने बताया कि इस साल बाजार में सौ फीसदी स्वदेशी राखिया ही आई है। पिछले साल की तुलना में इस साल राखी 15 से 20 फीसदी तक महंगी हुई है। इस बार बच्चों के लिए कार्टून पात्रों वाली राखियों के साथ ही म्यूजिक और लाईट वाली राखियां आई है। जिन्हें बच्चों द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है। वहीं युवाओं के लिए स्टोन वाले ब्रेसलेट, अमेरिकन डायमंड वाले ब्रेसलेट, नग वाली राखियां है।

इसके साथ ही पारंपरिक धागे और रोशमी राखियां भी उपलब्ध है। राखिया महंगी होने के बावजूद बाजार में न्यूनतम 5 रूपए से लेकर 600 रूपए तक की राखिया उपलब्ध है। धागे वाली राखियों में 5 रूपए से लेकर 80 रूपए तक की राखियां उपलब्ध है। वहीं स्टोन वाले सिल्वर टच बे्रसलेट 500 से 600 रूपए तक में उपलब्ध है। राखियों के साथ ही रूमाल भी महंगाई से नहीं बच पाए है। रूमाल न्यूनतम 10 रूपए से लेकर 60-70 रूपए तक है। राखी विक्रेताओं के अनुसार पिछले एक सप्ताह से महिलाएं बाहर भेजने के लिए राखियां खरीद रही थी। लेकिन मौसम साफ रहने से पिछले दो दिन से ग्राहकों की संख्या बढऩे लगी है। रक्षाबंधन के दो-तीन दिन पहले भीड़ बढऩे के चलते कई महिलाएं अभी ही राखियों की खरीददारी करने लगी है।

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *