स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी तथा सांसद श्री भार्गव ने रायसेन में वन स्टॉप सेंटर के नवीन भवन का किया लोकार्पण

दीपक कांकर

रायसेन, 29 सितम्बर ;अभी तक;  रायसेन में दशहरा मैदान स्थित महिला बाल विकास विभाग कार्यालय परिसर में आयोजित राष्ट्रीय पोषण माह के जिला स्तरीय समापन कार्यक्रम का स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी तथा सांसद श्री रमाकांत भार्गव द्वारा कन्या पूजन कर शुभारंभ किया गया। उन्होंने 48 लाख रू की लागत से निर्मित वन स्टॉप सेंटर के नवीन भवन का भी लोकार्पण किया।

इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि महिलाओं के उत्पीड़न की रोकथाम के लिए अनेक कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। इसी में वन स्टॉप सेंटर भी शामिल हैं। रायसेन में महिला बाल विकास विभाग का स्वयं का वन स्टॉप सेंटर भवन बनकर तैयार हो गया है, इससे पीड़ित और विपत्तिग्रस्त महिलाओं की सहायता में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस वन स्टॉप सेंटर में विपत्तिग्रस्त और अत्याचार से पीड़ित में महिलाओं की काउंसलिंग करने के साथ ही उन्हें विधिक एवं पुलिस सहायता उपलब्ध कराई जाती है। इस वन स्टॉप सेंटर में महिलाओं के रूकने की भी व्यवस्था है।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि महिलाओं के साथ हिंसा ना हो, उन पर अत्याचार ना हो यह हम सभी की नैतिक जिम्मेदारी है। यदि कहीं किसी महिला के साथ अत्याचार होता है या हिंसा होती है तो उसके विरूद्ध आवाज उठाएं और पुलिस, प्रशासन को अवगत कराएं। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा महिलाओं को स्व-सहायता समूहों के माध्यम से रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। अनेक स्व-सहायता समूहों और महिलाओं ने प्रदेश और देश में सफलता के नए आयाम स्थापित किए हैं।
स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि विभाग द्वारा रायसेन सहित देश-प्रदेश में 01 सितम्बर से 30 सितम्बर तक राष्ट्रीय पोषण माह मनाया जा रहा है। जिसके तहत ऑगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से विभिन्न गतिविधियां आयोजित कर महिलाओं को पोषण आहार की जानकारी दी गई। उन्होंने कहा कि कुपोषण की समस्या को दूर करने करने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। सरकार द्वारा ऑगनबाड़ियों के माध्यम से गर्भवती महिलाओं, धात्री माताओं, शिशुओं का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण, टीकाकरण कराने के साथ ही पोषण आहार भी उपलब्ध कराया जा रहा है।

सांसद श्री भार्गव ने कहा कि महिलाओं के साथ हिंसा ना हो, उनका उत्पीड़न ना हो इसके लिए महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया जाना जरूरी है। वन स्टॉप सेंटर के माध्यम से विपत्तिग्रस्त या हिंसा से पीड़ित महिलाओं को हर संभव मदद उपलब्ध कराई जाती है। चाहे विधिक सहायता हो, कानूनी सहायता हो या काउंसिलंग हो। सरकार द्वारा महिलाओं के लिए अनेक कौशल विकास, रोजगारमूलक कार्यक्रम भी संचालित किए जा रहे हैं ताकि वह आत्मनिर्भर बन सके।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी तथा सांसद श्री भार्गव ने राष्ट्रीय पोषण माह के समापन कार्यक्रम में महिला बाल विकास विभाग की ऑगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, सुपरवाईजरों द्वारा कार्यक्रम स्थल पर लगाए गए पोषण आहार स्टॉलों का भी अवलोकन किया तथा जानकारी ली। कार्यक्रम में उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों को सम्मानित किया गया तथा विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को प्रमाण पत्र वितरित किए गए। इस अवसर पर , कलेक्टर श्री अरविन्द कुमार दुबे, जिला पंचायत सीईओ श्री पीसी शर्मा तथा डॉ जयप्रकाश किरार सहित अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।