*हत्या करने वाले अभियुक्त की जमानत निरस्त*

महावीर अग्रवाल
 मंदसौर / उज्जैन २९ सितम्बर ;अभी तक; न्यायालय श्रीमान मुकेश नाथ, द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश महोदय, महिदपुर जिला उज्जैन के न्यायालय द्वारा अभियुक्त गब्बू पिता कानसिंह निवासी-ग्राम खरडिया मानपुर, झारड़ा तहसील महिदपुर, जिला उज्जैन का जमानत आवेदन निरस्त किया गया।
                   उप-संचालक डॉ0 साकेत व्यास (अभियोजन) ने घटना अनुसार बताया कि दिनांक 12.07.2020 को मृतक के मामा गोकुल ने शासकीय अस्पताल महिदपुर मे देहाती नालसी लेखबद्ध कराई कि उसकी बहन माना बाई व उसका लड़़का कृपालसिंह घर पर थे, वह खाल तरफ से घर आ रहा था कि टेलर की दुकान कि सामने उसके भानेज मृतक कृपालसिंह पिता रूगनाथ के साथ अभियुक्तगण भगवान सिंह व उसका भतीजा राहुल व शंकर सिंह का साला गब्बूसिंह झगड़ा कर रहे थे, अभियुक्त गब्बूसिंह के हाथ में बंदूक थी, अभियुक्त राहुल के हाथ में फावड़ा था, कृपालसिंह से पुरानी रंजिश के कारण अभियुक्त भगवान सिंह ने बंदूक के कुन्दे की कृपालसिंह के सिर में मारी, जिससे चोट लगी व खून निकल आया, अभियुक्त राहुल ने फावडे़ से कृपालसिंह के माथे में मारी, जिससे चोट आई। कृपालसिंह को अभियुक्त गब्बूसिंह ने लोहे के पाईप से मारा, उसने व उसकी बहन मानाबाई ने बीच-बचाव किया तो अभियुक्त गब्बूसिंह ने उन्हें भी पाईप की मारी, जिससे पीठ व दाहिने हाथ की उंगलियां में चोट लगी। मानाबाई को अभियुक्त भगवान सिंह ने बंदूक के कुंदे से मारा, जिससे बाये हाथ की कोहनी, कलाई, दाहिने पैर व कमर में चोट आई। घटना गोपाल टेलर व अर्जुन दर्जी ने देखी और गॉव के लोगों ने देखी। मारपीट कर तीनो अभियुक्तगण भाग गये। अभियुक्तगण भगवानसिंह, राहुल व गब्बूसिंह ने कृपालसिंह को जान से मारने की नियत से मारपीट की, जिससे कृपालसिह की हत्या हो गई।  फरियादी की रिपोर्ट पर अभियुक्तगण के विरूद्ध थाना महिदपुर रोड़ पर अपराध पंजीबद्ध किया गया।
                  अभियुक्त द्वारा जमानत आवेदन न्यायालय में प्रस्तुत किया था। अभियोजन की ओर से जमानत आवेदन का विरोध किया गया। न्यायालय द्वारा अभियोजन के तर्केे से सहमत होकर अभियुक्त का जमानत निरस्त किया गया। प्रकरण में पैरवी श्री अजय वर्मा, एजीपी तह0 बड़नगर जिला उज्जैन द्वारा की गयी।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *