हत्या करने वाले आरोपीगण को आजीवन कारावास 

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर / उज्जैन ३० दिसंबर ;  न्यायालय श्रीमान अश्वाक एहमद खान, विशेष सत्र न्यायाधीश महोदय (एस.सी./एस.टी, एक्ट), जिला उज्जैन के न्यायालय द्वारा आरोपीगण 01. गजेन्द्र उर्फ बंटी पिता कम्मोदसिह सिकरवार उम्र 38 साल निवासी लक्ष्मीनगर 02. मोनू उर्फ रितेश पिता विष्णु पाठक उम्र 39 साल निवासी 6, सिंहपुरी 3. विजय उर्फ बिजेश पिता कैलाश कलोसिया उम्र 30 साल 4. करण पिता रवि सारवान उम्र 27 साल निवासी 4, दानीगेट थाना महाकाल उज्जैन को धारा 302,34 भादवि एंव 3(2)(5) एस.सी./एस.टी, एक्ट में आरोपीगणों को आजीवन कारावास एवं कुल 8,000/-रूपये का अर्थदण्ड एंव फरियादी को 8000/- रूपये प्रतिकर से दण्डित किया गया।
                          उप-संचालक (अभियोजन) अजाक श्री राजेन्द्र कुमार चंदेल ने बताया कि घटना दिनांक 8 एवं 9 अक्टोबर 2018 की दरम्यानी रात में मृतक निवासी उज्जैन अपनी पत्नी तथा पुत्र के साथ अपने घर मोटर सायकल से जा रहा था, नरसिंह घाट के पास मृतक किसी आईसक्रीम वाले को देखने जा रहा था, रास्ते में अभियुक्तगण बैठे हुए थे जिन्होंने मृतक का रास्ता रोका, हत्या करने के आशय से उस पर चाकू से हमला किया, सीने पर चाकू मारने का प्रयास करने पर मृतक द्वारा अपना हाथ आगे बढ़ा दिया जिससे चाकू हाथ पर लगा। मृतक की पत्नी द्वारा बीच बचाव किये जाने पर उसे भी चाकू मारा तथा अभियुक्तगण द्वारा मृतक के साथ लात घुंसों से मारपीट की। मृतक को मरा हुआ जानकर छोड़कर मौके से अभियुक्तगण चले गये। मृतक की पत्नी द्वारा अपने ससुर को मोबाईल से फोन करके बुलाया, वे घटना स्थल पर पहंुचे उस समय तक मृतक जीवित था। उपनिरीक्षक डी.एल.दशोरिया द्वारा अस्पताल जाकर मृतक की पत्नी से घटना की जानकारी लेकर देहाती नालशी लेख की गयी। कुछ समय उपचाररत् रहते हुए मृतक की मृत्यु हो गयी। प्रकरण की विवेचना भा.पु.से. श्री समीर सौरभ (तत्कालीन सीएसपी अनुभाग महाकाल) द्वारा की गई। न्यायालय द्वारा अभियोजन के तर्कों से सहमत होकर आरोपीगणांे को दंडित किया गया।
प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी श्री राजेन्द्र कुमार चंदेल उप-संचालक (अभियोजन) अजाक जिला उज्जैन द्वारा पैरवी की गई।