हत्या करने वाले आरोपी को आजीवन कारावास की सजा

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर / उज्जैन ११ अक्टूबर ;अभी तक;  विशेष न्यायालय श्रीमान अश्वाक् अहमद खान, विशेष न्यायाधीश एस.सी./एस.टी. एक्ट उज्जैन के न्यायालय द्वारा आरोपीगण 01. अरविन्दसिंह पुत्र अमरसिंह निवासीगण ग्राम उंटेसरा थाना घट्टिया जिला उज्जैन को धारा 302 भादवि, सहपठित धारा 3(2)(ट) अनूसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम में आजीवन कारावास एवं धारा 201 भादवि में 05 वर्ष का कठोर कारावास 02. प्रकाश बाई पत्नि रामप्रसाद, निवासी ग्राम उंटेसरा थाना घट्टिया जिला उज्जैन को धारा 201 भादवि में 05 वर्ष का सश्रम कारावास एवं कुल-15,000/- रूपये के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया।
उप-संचालक (अजाक)/पैरवीकर्ता श्री आर. के. चंदेल ने अभियोजन की घटना अनुसार बताया कि मृतक एवं उसकी पत्नि अरविन्द्र के पास नौकर के रूप में कार्य करते थे। दिनंाक 22.02.2019 को मृतक एवं उसकी पत्नि अरविन्द के खेत पर दिन के 10 बजे के लगभग काम करने गये, थोडी देर बाद मृतक की माता खेत पर गयी तो मृतक वहॉ नहीं दिखा। मृतक की तलाश की परन्तु उसका पता नही चला। दिनांक 24.02.2019 तक मृतक की तलाश की लेकिन नही मिलने पर मृतक की मॉ द्वारा आरक्षी केन्द्र घट्टिया पर गुमशुदगी दर्ज करायी। मृतक की पत्नि रविवार के दिन नुक्ते के कार्यक्रम में जाकर वापस आयी, फिर  उससे घर वालों ने मृतक के बारे मे पूछा तो उसने बताया कि अरविन्द के खेत पर पाईप लाईन खुदी है वहॉ जाकर देखा लो वह वहीं मिलेगा। परिवार के लोग अरविन्द के खेत पर खोदे हुए पाईप लाईन के स्थान पर पहुंचे तो जहॉ खुदी हुई मिट्टी एक जगह पर दिखी, शंका हुई तो कोटवार को बुलाया, पुलिस को सूचना दी, थाना घट्टिया से पुलिस मौके पर आयी, रविवार को रात होने से देर हो गयी थी, सोमवार को सुबह पुलिस ने मौके पर कार्रवाई शुरू की, मिट्टी को ढेर खुदवाकर देखा तो मृतक की लाश थी। उसे परिवार वालों द्वारा पहचाना गया। गर्दन पर धारदार हथियार की चोट के निशान थे। मृतक की पत्नि के अरविन्द से अवैध संबंध थे तथा मृतक को इस बात का पता चल गया था। मृतक उसकी पत्नि से झगड़ा करता था। घटना दिनांक को भी मृतक की पत्नि ने अरविंद से कहा कि उसका पति नाजायज संबंधों को लेकर उसके साथ मारपीट करता है, अरविन्द द्वारा दराते से मृतक की गर्दन एवं उसके शरीर पर चोटें पहुंचाकर उसकी हत्या कर दी थी तथा दोनो ने लाश को पाईप लाईन की खुदी हुई नाली में डालकर मिट्टी से गाड़ दिया था। फरियादी की रिपोर्ट पर अपराध पंजीबद्ध कर आवश्यक अनुसंधान पश्चात् उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय जिला उज्जैन अभियोग पत्र माननीय न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। न्यायालय द्वारा अभियोजन के तर्कों से सहमत होकर आरोपीगण को दण्डित किया गया।
प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी श्री आर0 के0 चंदेल, उप-संचालक (अजाक) जिला उज्जैन द्वारा पैरवी की गई।

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *