हत्या के आरोपीगण को आजीवन कारावास

सौरभ तिवारी

होशंगाबाद ११ नवंबर ;अभी तक; विशेष न्यायाधीश होशंगाबाद जेपी सिंह द्वारा उनके न्यायालय में विचाराधीन सत्र प्रकरण एससीएटीआर क्रमांक 26/2014 म.प्र. राज्य द्वारा आरक्षी केन्द्र पिपरिया जिला होशंगाबाद विरुद्ध गोंविद ठाकुर , भगवानसिंह ठाकुर, नीलेश ठाकुर,  कैसरसिंह ठाकुर, हेमराज,  देवेन्द्र ठाकुर, भूरे साहब उर्फ घुर,  विनोद ठाकुर एवं पुन्नी उर्फ पुन्नीलाल ठाकुर सभी निवासी ग्राम पुनौर थाना पिपरिया जिला होशंगाबाद को भारतीय दण्ड विधान की धाराओं में दोषी पाते हुये आजीवन कारावास एवं अर्थदण्ड से दण्डित किया गया । प्रकरण में आरोपीगण खेमराज रामकुमार देवीसिंह जीतलाल एवं राजेश उर्फ राजेन्द्र प्रकरण के लंबित रहने के दौरान फरार होने उन्हें छोड़कर शेष अभियुक्तगण के विरूद्ध निर्णय पारित किया गया। जिसमें शासन की ओर से पैरवी अपर लोक अभियोजक केशवसिंह चौहान लोक अभियोजक द्वारा की गई।

अपर लोक अभियोजक श्री चौहान ने बताया कि दिनांक 24.02.2014 को फरियादी द्वारा रिपोर्ट लिखाई गई कि ग्राम पुनौर में छोटाघास के नाम से साढ़े दस एकड जमीन पर वर्ष 2003 से उनका कब्जा है जिस पर कुंआ बना हुआ।  कुए में पिता छोटेलाल भाई होरीलाल गुड्डा बहन दशोदा लक्ष्मी भागवती मां मुन्नीबाई के साथ रिंग बनाकर डाल रहें थे। सुबह साढे इस बजे गांव के विनोद ठाकुर भगवानसिंह ठाकुर केसरसिंह ठाकुर घूर साहब ठाकुर पुन्नीलाल ठाकुर नीलेश ठाकुर देवेन्द्र ठाकुर गोंविद ठाकुर एवं अन्य लोक कुल्हाडी गडासी बल्लम फर्सा रोड व डंडा लेकर आये और बाले हम यहा पर झुग्गी बनाएंगे झुग्गी बनाने से मना करने पर सभी ने एक राय होकर हाथ में रखे हथियारों से हमला कर दिया और जान से खत्म करने की नियत से केसरसिंह ठाकुर ने पिता छोटेलाल को सिर में कुल्हाडी मार दी वे लोग बीच बचाव करने लगे तो उन लोगों के साथ भी मारपीट की। रिपोर्ट पर से मौके पर देहाती नालिशी ली गई जिस पर असल अपराध कमांक 139/14 धारा 147,148,149,307,323,294 भा.द.वि. का कायम कर विवेचना में लिया गया । घायल छोटेलाल की मृत्यु हो जाने से प्रकरण में धारा 302 भादवि एवं घायलो को फेक्चर आने से धारा 325 भादवि का इजाफा किया गया तथा न्यायालय चालान प्रस्तुत किया गया । जिसका विचारण माननीय विशेष न्यायाधीश जे.पी.सिंह के न्यायालय में किया गया ।