हत्या के तीन आरोपियों को आजीवन कारावास

मयंक भार्गव

बैतूल एक सितम्बर ;अभी तक;  चिचोली थानांतर्गत हत्या के चिन्हित एवं जघन्य सनसनीखेज अपराध में प्रथम अपर सत्र न्यायालय बैतूल के विद्वान न्यायाधीश ने धारा 302 के तहत दोषी पाये जाने पर तीन आरोपियों को आजीवन कारावास एवं अर्थदण्ड से दण्डित किया गया। आरोपियों ने जादू टोना के शक में शहर में जहर मिलाकर चुम्मा को पिला दी थी। जिससे उसकी मौत हो गई थी। उक्त मामले में चिचोली थाने में 8 जनवरी 2019 को झापल पीपलढाना निवासी पतिराम पिता चुन्नी उईके (24), प्रेमसिंह पिता मुंशी धुर्वे (37) एवं दिलीप पिता भादू धुर्वे (42) के खिलाफ धारा 328, 302, 34 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया था।

मृतक के विसरा में मिले थे जहर के अंश

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक चिचोली थानांतर्गत झापल पीपलढाना निवासी पतिराम पिता चुन्नी, प्रेम सिंह पिता मुंशी धुर्वे तथा दिलीप पिता भादू धुर्वे द्वारा जादू टोना करने के शव में चुम्मा को शराब में जहर मिलाकर पिला दिया था। जिससे उसकी मौत हो गई थी। पुलिस ने उक्त तीनों आरोपियों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर गिरफ्तार किया था।

प्रकरण की विवेचना तात्कालीन चिचोली थाना प्रभारी निरीक्षक आरडी शर्मा द्वारा की गई। विवेचना के दौरान आरोपियों के कब्जे से जप्त जहर एवं मृतक का विसरा वैज्ञानिक परीक्षण के लिए राज्य न्यायालयिक विज्ञान प्रयोगशाला भोपाल भेजा गया था। जिसकी रिपोर्ट में मृतक के विसरा में वहीं जहर के अंश पाये गये जो आरोपियों के कब्जे से जप्त किया गया था। प्रकरण का अनुसंधान पूर्ण कर चालान न्यायालय में पेश किया गया था।
कुशल विवेचना- पैरवी से मिली सजा

उल्लेखनीय है कि चिन्हित एवं जघन्य सनसनीखेज अपराध में चिन्हित हत्या के प्रकरण के विचारण के दौरान बैतूल पुलिस द्वारा साक्षियों को समय-समय पर उपस्थित कराया गया। साथ ही जिला अभियोजन अधिकारी एसपी शर्मा, वरिष्ठ एडीपीओ अमित कुमार राय एवं श्रीमति वंदना शिवहरे कुशलता पूर्वक प्रकरण की पैरवी की गई। प्रकरण की कुशल विवेचना एवं पैरवी के परिणाम स्वरूप विचारण उपरांत प्रथम अपर सत्र न्यायालय बैतूल के विद्वान न्यायाधीश ने आरोपियों पतिराम उईके प्रेम सिंह धुर्वे एवं दिलीप धुर्वे को धारा 302 के तहत दोषी पाये जाने पर आजीवन कारावास एवं जुर्माने से दण्डित किया। उक्त प्रकरण में कुशल विवेचना एवं चिन्हित अपराध की कुशलता पूर्वक मॉनीटरिंग करने वाले अधिकारियों कर्मचारियों एवं अभियोजन अधिकारियों को पुरूस्कृत करने की घोषणा पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद ने की है।