हफते में  91 घण्टे की छूट तो 77 घण्टे क्फर्यू का साया

मयंक शर्मा
खंडवा ३१ मई ;अभी तक ;   हफते के 7 में से 6 दिन राहत होगी लेकिन हर रविवार जनता कफ्र्यू
रहेगा। यह शनिवार रात 10 बजे से लागू होकर सोमवार सुबह 6 बजे तक
प्रभावशील रहेगा।याने रविवार हाट बाजार दिवस सन्नाटा पसरा रहेगा।इस दिन
ग्रामीण अंचलो से बडी संख्या में किसान व ग्रामीण अपनी उपज, सब्जी या
अन्य सामान लाकर यहां दुकानें लगाते है लेकिन उन्हें मौका नहीं होगा। इसी
तरह खण्डवा जिले की सम्पूर्ण भौगोलिक सीमा में रात्रि 09.00 बजे से प्रात
06.00 बजे तक नाईट कफ्र्यू रहेगा। अनुमत्य गतिविधियों के अलावा किसी भी
स्थान पर 06 से अधिक व्यक्तियों के एकत्र होने पर प्रतिबंध रहेगा।
क्राइसिस मेनेजमेंट ग्रुप की बैठक खण्डवा के कोविड प्रभारी मंत्री एवं
प्रदेश के वन मंत्री विजय शाह की अगुआई में हुई। प्रतिबंधात्मक आदेश
अनुसार 01 से 08 जून तक अपर जिला दण्डाधिकारी ने कहा कि  धारा 144 के तहत
उक्त अवधि में सभी सामाजिक/ राजनैतिक/ खेल/ मनोरंजन/ सांस्कृतिक/धार्मिक
आयोजन/ मेले आदि जिनमें जनसमूह एकत्र होता है, प्रतिबंधित रहेगा। उक्त
अवधि में स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक/प्रशिक्षण/ कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे।
केवल ऑनलाईन क्लासेस चल सकेगी।
सभी सिनेमा घर, शापिंग मॉल, स्वीमिंग पूल, थियेटर पिकनिक स्पॉट,
ऑडिटोरियम, सभा गृह बंद रहेंगे। धार्मिक/ पूजा स्थल पर एक समय में 04 से
अधिक व्यक्ति उपस्थित नहीं रह सकेंगें। अत्यावश्यक सेवाएं देने का कार्य
करने वाले कार्यालयों को छोड़कर शेष कार्यालय 100 प्रतिशति अधिकारियों एवं
50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ संचालित किये जाएं।
अत्यावश्यक सेवाओं प्रतिबंध से अछूती रहेगी। इनमे पुलिस, आपदा-
प्रबंन्धन, फायर, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा जेल, राजस्व, पेयजल
आपूर्ति, नगरीय प्रशासन, ग्रामीण विकास, विद्युत प्रदाय, सार्वजनिक
परिवहन, कोषालय एवं पंजीयन सम्मिलित हैं। अधिकतम 20 लोगों के साथ अंतिम
संस्कार की अनुमति रहेगी।  समस्त प्रकार के उद्योग एवं औद्योगिक
गतिविधियाँ चालू रह सकेगी। इस कार्य हेतु उद्योग से जुड़े
अधिकारियों/कर्मचारियों/अमिकों को वैध आई कार्ड के साथ आने-जाने की
अनुमत्ति रहेगी। उद्योगों के कच्चा माल/तैयार माल के आवागमन पर किसी
प्रकार की रोक नहीं होगी। अस्पताल, नर्सिग होम, क्लीनिक, मेडिकल,
इंश्योरेंस-कम्पनीज अन्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सेवाएं, पशु चिकित्सा
अस्पताल चालू रहेंगी।
कैमिस्ट की दुकाने, सार्वजनिक वितरण प्रणाली की राशन दुकानें एवं डेयरी
एवं दुग्ध केन्द्र पूरे दिन के लिए खुली रखी जा सकेगी। सब्जियाँ तथा फलों
का विकय चलित ठेलों के माध्यम से प्रात काल 8.00 बजे से सांय 8.00 बजे तक
जिला प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्था अनुसार क्रय-विक्रय की अनुमति होगी।
मोबाईल दुकानें एवं मोबाईल रिपेरिंग की दुकानें प्रातरू 10.00 बजे से साय
8.00 बजे तक खुली रहेगी। चश्में की दुकाने प्रातरू 10.00 बजे से सांय
8.00 बजे तक खुली रहेगी। पेट्रोल/डीजल पम्प/ गैस स्टेशन, रसोई गैस सेवाएं
पूरी तरह से चालू रहेंगी। सभी कृषि गतिविधियों की अनुमति होगी। कृषि उपज
मण्डी, खाद/ बीज/ कृषि यंत्र की दुकानें खुल सकेंगी। बैंक, बीमा कार्यालय
एवं एटीएम प्रारंभ रहेंगे। प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया तथा केबल
ऑपरेशन्स को अनुमति रहेंगी। सभी प्रकार के सामानों और माल की आवाजाही
बिना किसी रोक टोक के जारी रहेगी। सार्वजनिक परिवहन, निजी बसों, ट्रेनों
के माध्यम से कोविड-19 के दिशा निर्देशों के अन्तर्गत आने-जाने की अनुमति
रहेगी। ऑटो, ई-रिक्शा में दो सवारी, टैक्सी तथा निजी चार पहिया वाहनों
में ड्रायवर तथा दो पैसेंजरों को (मास्क के साथ) यात्रा करने की अनुमति
होगी। मोहल्लों/ कॉलोनियों/ ग्रामों में एकल दुकानें पूरे समय खुली रखी
जा सकेंगी। समस्त ग्रामों में मनरेगा कार्य, ग्रामीण विकास कार्य एवं
अन्य विभागों के निर्माण कार्य तथा तेन्दू पत्ता संग्रहण के कार्य कोविड
-19 महामारी की रोकथाम के एसओपी का पालन करते हुए जारी रखे जा सकेंगे।
एक जून से कुछ प्रतिबंधो के साथ खंडवा को अनलॉक करने की घोषणा की गयी है।
इसके लिए प्रदेश सरकार की ओर से नई गाइड लाइन भी जारी की है। जिले में एक
जून से
अनलॉक में क्या छूट मिलेगी और क्या प्रतिबंध जारी रहेंगे इसका निर्णय
सोमवार को क्राइसिस मैनेजमटें की बैठक में लिया गया है।
सोमवार देर शाम तक चली क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक, में 5 प्रतिशत से कम
संक्रमण दर वाले जिलों में शामिल खंडवा को एक जून से अनलॉक होने जा रहा
है। एडीएम शंकरलाल सिंघाडे के आदेश अनुसार राशन व किराना दुकानें सिर्फ
होम डिलीवरी करेगी। शराब दुकानें खुलेगी तो मंदिर में दर्शन-पूजन के लिए
प्रवेश मिल सकेगा। सैलून-ब्यूटी पार्लर से लेकर होटल-रेस्टोरेंट, कपड़ा व
सराफा बाजार खुलने को लेकर 8 जून को फैसला होगा। क्षमता अनुसार बसों का
आवागमन जारी रहेगा।
बैठक रात 8 बजे तक चली। जिम, स्कूल-कॉलेज, शॉपिंग मॉल व पार्क बंद रखे
जाएगे। इंदौर, भोपाल व बुरहानपुर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में बस परिवहन
सेवा चालू रहेगी। अनलॉक के दूसरें सप्ताह में ऑड-ईवन फार्मूला लागू करके
सराफा-बर्तन व कपड़ा बाजार को खोलने की अनुमति दी जाएगी। शादी-समारोह के
लिए एसडीएम से अनुमति लेनी होगी। 20 से ज्यादा लोग शामिल नहीं हो सकेंगे।
मास्क नहीं पहनने पर ग्रामीण क्षेत्र में 50, शहरी क्षेत्र 100 रूपए तथा
बिना मास्क यात्री बैठने पर बस मालिक पर 5 हजार, ऑटो मालिक व दुकानदारों
पर 1-1 हजार का जुर्माना लगेगा।
यह संयोग है पिछले साल भी 25 मार्च से लगे लॉकडाउन के बाद 1 जून से
अनलॉक-1 की शुरुआत हुई थी। अनलॉक को लेकर जिले में कार्यवाही शुरू हो गई
है। 1जून से जिंदगी फिर से अनलॉक हो रही है। लेकिन छूट का फायदा उठाने
में समझदारी दिखाना होगी, ताकि हम खुद को और परिवार को तीसरी लहर से बचा
सके। क्योंकि कोरोना की वजह से कई परिवारों के चिराग बुझ गए। किसी ने
बेटा खोया, तो किसी ने पति या पत्नी को।
कई परिवार तो ऐसे हैं जिनके घर में अब कमाने वाला हीं नहीं बचा। वारिस के
रूप में अब छोटे-छोटे बच्चे व महिलाएं बची हैं।
ृ जिले में हेल्थ बुलेटिन के अनुसार अब तक 83 लोगों की मौत हुई है। लेकिन
हकीकत इससे उलट है। जानकारी के मुताबिक मरने वालों की संख्या 500 से अधिक
है। जिला मुख्यालय पर स्थित मुक्तिधाम में अप्रैल माह में रोजाना 5 से 15
तक चिताएं जली है। अप्रैल महीने में 200 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है।
पिछले दिनों मुक्तिधाम में ये हालात थे, कि चिता जलाने के लिए टीन शेड कम
पड़ गया। परिसर में लोगों को अंतिम संस्कार करना पड़े।
राहत की बात है कि गांवों व फलियों में स्थिति बहुत ज्यादा नहीं बिगड़ी।
वर्ना महामारी को काबू करना आसान नहीं होता, क्योंकि जिले के हजारों लोग
रोजगार के लिए महाराष्ट्र पलायन करते हैं। महाराष्ट्र में लॉकडाउन के
पहले इन लोगों की घर वापसी हुई। अब सतर्क रहना जरूरी है। लापरवाही बरती,
तो इसका खामियाजा पूरे परिवार को भुगतना पड़ेगा। इसके चलते बाजार खुलने के
बाद गाइड लाइन का पालन जरूर करें, ताकि ऐसी भयावह तस्वीर फिर से न बने।
1 जून से प्रदेश के कई जिलों समेत खंडवा भी अनलॉक होगा।
0 गाइ्रड लाइन-
शहर में ५० प्रतिशत दुकानें खोलने की अनुमति जिला प्रशासन दे सकता है।नई
गाइड लाइन के अनुसार ५ प्रतिशत से कम संक्रमण दर वाले शहरों में लगभग
अनलॉक किया जा सकता है।जिले में कोरोना संक्रमण की दर कम होने से यहां
काफी प्रतिबंध खत्म किए जा
सकते है।  जिले में कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए गांवों से प्रतिबंध हटाए
जाएंगे। शहर में किराना दुकानें खुलेंगी। होटल, रेस्टारेंट में भी क्षमता
से ५० प्रतिशत की बैठक पर अनुमति दी जा सकती
है। शासकीय कार्यालयों में भी १० प्रतिशत उपस्थिति को हटाकर शत प्रतिशत
की उपस्थिति पर कार्यालय लगेंगे। हालांकि कपड़ा दुकानों, ं बर्तन बाजार,
शापिंग माल को लेकर फिलहाल संशय की स्थिति बनी हुई है।
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने प्रदेशवासियों को
संबोधित करते हुये कहा कि लड़ाई अभी बाकी है। यह बात अलग है कि अभी
संतोषजनक स्थिति है।उन्‍होंने कहा कि हमने संक्रमण को नियंत्रित तो किया,
लेकिन संकट टला नहीं है। हमें अभी सावधान रहने की आवश्‍यकता है।
रात्रिकसलीन कोरोना कफ्र्यू 15 जून तक जारी रहेगा।शनिवार रात दस बजे से
सोमवार सुबह 6 बजे तक जनता कफ्र्यू लागू रहेगा। रोज रात दस से सुबह 6 बजे
तक नाइट कफ्र्यू रहेगा।
9 हालात जीरो
तीन माह से तहलका करनेवोल कोरोना सक्रमण के लिये सोमवार का दिन हाशिये
दिखाना वाला रहा। करीब त 3 माह बाद  संक्रमित मरीज मिलने की संख्या शून्य
तक लुढक गयी। सोमवार को लगभग 1355 संदिग्ध मरीजों की जांच रिपोर्ट
प्राप्त हुई।
इसमें किसी भी मरीज में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई। सोमवार को नौ मरीज
संक्रमण मुक्त हुए। इसके बाद सक्रिय मरीजों की संख्या 47 रह गई है। इनमें
से 22 मरीज अस्पताल में व 18 मरीज होम आइसोलेशन पर हैं। अब तक 4024 लोगों
में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनमें से 3883 संक्रमण मुक्त हुए
और 94 की मौत हो गई है।