हर आंख को बेसब्री से इंतजार  है मासूम के हत्यारे को देखने के लिये।

मयंक शर्मा
खंडवा २२ अक्टूबर ;अभी तक; अक्षांश का घर के आंगन में खेलते खेलते बुधवार दोपहर 2 बजे अचानक
गायब हो जाना और रात को आठ बजे के लगभग 100 कदम की दूरी पर एक सूने मकान
से बालक अक्षांश कोठारे की लाश का मिलना एक पहेली बना हुआ है।
घटना जिलं के नगर मूंदी की है।
                    इस जघन्य हत्याकांड की गुत्थी को सुलझाने के लिए पुलिस प्रशासन पूरी
मुस्तैदी से लगा हुआ है हर एक बारीक बारीक चीज पर मंथन किया जा रहा है
वहीं उद्वे्रलित जनमानस  क्षेत्र ही नहीं  प्रदेश की हर एक आंखे उस
गुनाहगार उस कातिल को देखना चाहती है जिसमें 3 वर्ष के मासूम अबोध बालक अक्षांश की
जान ले ली है।
                   इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता बच्चे को उठाया गया तब से लेकर उसकी
लाश मिलने तक बच्चा 100 मीटर की रेंज में था। अगर बच्चे को उठाकर अन्य
जगह ले जाया जाता तो भी गुनाहगार गुनाह करने के बाद वापस बच्चे को मृत
अवस्था में लेकर वापस उसी जगह नहीं आता जहां से बच्चा उठाया गया था । े
कातिल शातिर है या फिर नादानी कर बैठा है।
दिन भर बच्चे को ढूंढने के बाद जब बच्चे के नहीं मिलने के उपरांत वार्ड
की महिलाओं ने एक एक घर में जाकर तलाशी अभियान शुरू किया उसके बाद कातिल
3 वर्षीय बालक को टाट की बोरी में बंधकर घटनास्थल के करीब सूने मकान में
फेक गया था। एसपी विवेकसिंह ने पुन दोहराया कि पूरा घटनाक्रम यह दर्शाता
है कि कातिल जल्द सलाखों के पीछे होगा। पुलिस निंतर जांच में जुंटी है।
            मूंदी में 3 साल के मासूम अक्षांश की जघन्य हत्या ने दिल
दहला दिया है। जांच ें के दौरान घटनास्थल के नजदीक अज्ञात महिला के चप्पल
मिले हैं। वहीं, थोड़ी दूर एक टपरी है, जहां आकर लोग गांजे का नशा करते
हैं। फिलहाल, सुराग हाथ नहीं लग सका है।
पुलिस भी नहीं समझ पा रही कि मजदूर मां-बाप के हंसते-खेलते मासूम की
जिंदगी किसने छिन ली। एसपी विवेक सिंह का कहना है कि घटनास्थल के आसपास
के सभी घरों में डॉग स्क्वॉड की टीमों ने सर्चिंग की है। बाइक, वाहन,
लोगों के चप्पल, कपड़ों से लेकर बर्तन तक सूंघे, लेकिन सुराग नहीं मिल सका
है। है। सभी पहलुओं पर बारीकी से जांच की जा रही है। गुरूवार  को मूंदी
नगर में कांग्रेस और आमजन ने कैंडल मार्च निकालकर वारदात का विरोध जताया।
आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग भी की। विधायक नारायण पटेल ने भी
पुलिस और गृहमंत्री से फोन पर बात कर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की
है।