हाईकोर्ट के आदेश के बाद महेश्वर में खासगी ट्रस्ट की संपतियो को प्रशासन ने अपने आधिपत्य में लिया

7:26 pm or October 9, 2020
हाईकोर्ट के आदेश के बाद महेश्वर में खासगी ट्रस्ट की संपतियो को प्रशासन ने अपने आधिपत्य में लिया
आशुतोष पुरोहित
खरगोन 9 अक्टूबर ;अभी तक;    हाईकोर्ट के आदेश के बाद आज खरगोन जिले के महेश्वर में खासगी ट्रस्ट की संपतियो को प्रशासन ने अपने आधिपत्य में ले लिया है। महेश्वर एसडीएम संघ प्रिय ने आज आदेश की कॉपी लेकर किला परिसर पहुंचे और महेश्वर के प्रसिद्ध घाट , राजवाड़ा , ऐतिहासिक किला स्थित मंदिर सहित खासगी ट्रस्ट की 102 संपत्तियों पर शासन का आधिपत्य लिया। इस दौरान किला परिसर में खासगी ट्रस्ट की सम्पत्ति को लेकर मौजूद अधिकारी कर्मचारीयो से चर्चा की।
                गौरतलब है की कई सम्पत्तियाॅ किराए पर संचालित हो रही है। देवि अहिल्या के वंशज रिचर्ड होल्कर द्रवारा यहाॅ हैरिटेज होटल सहित अन्य सम्पत्तिया को किराये पर लेकर संचालित कर रहे थे। कलेक्टर अनुग्रहा पी के निर्देश पर प्रशासन की टीम भौतिक सत्यापन कर रही है।
                 कलेक्टर ने बताया कोर्ट के आदेश अनुसार महेश्वर की 101 और कसरावद की एक सम्पत्ति को आधिपत्य में लिया है। एसडीएम भौतिक सत्यापन कर रिपोर्ट देगे।  एसडीएम संघ प्रिय ने राजवाड़ा पहुंच कर खासगी ट्रस्ट के प्रबंधक रावत को कोर्ट के आदेश की कॉपी सौपी और  संपतियो को आधिपत्य में लिया है । इस दौरान तहसीलदार डी डी शर्मा , सीएमओ राजेन्द्र मिश्रा, टी आई पी एस मुवेल भी उपस्थित थे।
               महेश्वर के प्रसिद्ध घाट राजवाड़ा ऐतिहासिक किला स्थित मंदिर सहित छत्रियो की कुल 102 संपत्तियों पर मध्य प्रदेश शासन का आधिपत्य होने से हवा बंगला ( जहाॅ होटल संचालित ) लिंगार्चन वाली जगह  तोपखाने की लाइन  प्रसिद्ध मंदिर पंड्रिनाथ मंदिर भवानी माता मंदिर ज्वालेश्वर मंदिर सहित 32 घाट एवं धर्मशाला छत्रिया शामिल है । शासन का आधिपत्य होने से जीर्ण शीर्ण संपत्तियों के जीर्णोद्धार की उम्मीद भी जगी है । ज्ञात हो कि महेश्वर किले की नर्मदा मार्ग वाली  दीवार क्षति ग्रस्त होकर कई छत्रिया मंदिर मरम्मत की बाट जोह रही है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *