हिन्दू पंचांग के आधार पर श्री पशुपतिनाथ में मनाया स्वतंत्रता दिवस, 

5:55 pm or July 27, 2022
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर २७ जुलाई ;अभी तक;  पशुपतिनाथ मन्दिर के पुरोहितों और यजमानों की संस्था ‘ज्योतिष एवं कर्मकांड परिषद द्वारा मंदसौर में शिवना नदी के किनारे स्थित इस भूतभावन श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर में स्वतंत्रता दिवस हिन्दू पंचांग के आधार पर 27 जुलाई, बुधवार को मनाया गया। इस दौरान विशेष पूजा-पाठ कर देश की समृद्धि व खुशहाली की भगवान से प्रार्थना की। परिषद द्वारा यह अनूठी परंपरा पिछले 37 साल से चली आ रही है।
                पशुपतिनाथ मन्दिर के पुरोहितों और यजमानों की संस्था ‘ज्योतिष एवं कर्मकांड परिषद’ के संस्थापक उमेश जोशी ने बताया कि देश 15 अगस्त 1947 को जब अंग्रेजी राज से आजाद हुआ, तब हिंदू पंचांग के मुताबिक श्रावण मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी थी. इस बार श्रावण कृष्ण चतुर्दशी बुधवार को पड़ी और हमने अपनी परंपरा के अनुसार पशुपतिनाथ मन्दिर में स्वतंत्रता दिवस मनाया। इस दौरान पुरोहितों द्वारा अष्टमुखी शिवलिंग का विशेष श्रृंगार कर पूजा की।
                परिषद के रविन्द्र पाण्डेय ने बताया कि देशभर में स्वतंत्रता दिवस का जश्न 15 अगस्त को पूरे उत्साह से मनाने की तैयारियां जारी है. लेकिन प्रसिद्ध पशुपतिनाथ मंदिर में आजादी का सालाना पर्व इस तारीख से 18 दिन पहले ही 27 जुलाई को मना लिया गया। पशुपतिनाथ मन्दिर में हर साल इसी तिथि के अनुसार विशेष पूजा-पाठ कर स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। यह परम्परा 1985 से जारी है।
                दूर्वा के जल से किया अभिषेक- पं. रविन्द्र पाण्डेय ने बताया कि संपूर्ण भारत में एकमात्र स्थान जहां पर मंदिर में स्वतंत्रता दिवस हिन्दू पंचांग के अनुसार मनाया जाता है। आज परिषद द्वारा पशुपतिनाथ मंदिर में स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम के दौरान दूर्वा (पूजा में इस्तेमाल होने वाली खास तरह की घास) के जल से शिवलिंग का अभिषेक किया गया और देश की समृद्धि तथा सुरक्षा की प्रार्थना की गई।
                 यह बने सहभागी- दूर्वा अभिषेक में संस्था ज्योतिष एवं कर्मकांड परिषद भारत के संस्थापक पं. उमेश जोशी, पं. मनोहरलाल शर्मा, पं.नवीन जोशी, पं.पीयूष जोशी, प.विशाल जोशी, प.अनिरुद्ध जोशी, पं. कैलाश भट्ट, पं. पुरुषोत्तम जोशी, पं. रविंद्र पांडे, रवि अग्रवाल, नितिन शर्मा,सुनील पालीवाल,जगदीश अग्रवाल,आशीष चौधरी, चंद्रशेखर चौधरी अमूल, पुलिस विभाग से राजेंद्र कुमावत, विजयसिंह पूरावत, नरेंद्र जोशी आदि सदस्य उपस्थित रहे।