हिन्दू संगठनो की मांग पर छैगांव थाना प्रभारी सिंगारे किये गये लाईन हाजिर

मयंक शर्मा

खंडवा २६ अगस्त ;अभी तक;  हिंदू संगठनों के विरोध के बाद छैगांवमाखन टीआई मोहनसिंह सिंगारे को लाइन हाजिर कर दिया गया है।

                   एसपी विवेकसिंहह ने छैगांवमाखन थाना प्रभारी मोहन सिंह सिंगोरे के खिलाफ हिंदू संगठनों द्वारा दिये गये े ज्ञापन के बाद यह कार्रवाही की है। गणेश उत्सव स्थापना दिवस शनिवार को ग्राम देशगांव स्थित पुलिस चैकी से स्थपित गणेश प्रतिमा हटाने तथा छैगांव माखन में गणेश मंदिर में प्रतिमा स्थापना करने वाले युवक को धमकाने  के अलावा उनके द्वारा अभद्रता करने का आरोप ज्ञापन मे लगाया गया था और कार्रवाही न  होने पर ंइदौर इच्छपुर हाइर्व पर चक्का जाम करने की चेतावनी दी गयी थ्ीा। इस मामले की जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सीमा अलावा को सौंपी गई है।एसपी ने बताया कि श्री सिंगारे को लाईन अटैव किया गया है।

धार्मिक आस्था आधातिक होने को लेकर  छैगांवमाखन थाना प्रभारी मोहन सिंह सिंगोरे के खिलाफ विहिप और बजरंग दल ने मोर्चा खोल दिया था।गत सोमवार को दोपहर में यहां  स्टेडियम से वाहन रैली निकालकर विहिप और बजरंग दल के कार्यकर्ता एसपी कार्यालय पहुंचे। जहां ं उन्होंने  मोहन सिंह सिंगोरे के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। नारे लगाने के साथ ही गणपति बप्पा मोर्‌या के जयकारे भी लगाए।

                बजरंग दल के विभाग संयोजक नागेश वालंजकर व  विहिप जिलाध्यक्ष नवनीत अग्रवाल ने बताया कि छैगांवमाखन में गणेश जी के मंदिर में मिट्टी से बनी करीब एक फीट की गणेश मूर्ति युवकों द्वारा बैठाई जा रही थी लेकि न टीआई सिंगोरे ने उन्हें धमकाते हुए मूर्ति की स्थापना नहीं करने दी। इसी तरह से देशगांव पुलिस चैकी में गणेश जी की मूर्ति की स्थापना की गई थी। टीआई सिंगोरे ने उसे भी हटवा दिया।  इससे पहले भी पंधाना थाना प्रभारी रहते हुए टीआई सिंगोरे ने हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित किया। बेवजह झूठे प्रकरण दर्ज कि ए गए।
                 जिले में पदस्थ रहने के दौरान हमेशा ही टीआई सिंगोरे हिंदू विरोधी रहे हैं। इस तरह की हिंदू विरोधी गतिविधियों में शामिल टीआई सिंगोरे पर धार्मिक भावना आहत करने पर प्रकरण दर्ज करने और तत्काल निलंबित करने की मांग की थी।   ज्ञापन में टीआई को निलंबित कर प्रकरण दर्ज करने की मांग की गइ र्थी। मांग पूरी नहीं होने पर दोनों ही संगठनों ने उग्र आंदोलन करने की चेतावनी दी थी।

 

 

 

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *