1 माह में ही हो गई सीजन की 66 फीसदी बारिश

3:30 pm or July 20, 2022

मयंक भार्गव

बैतूल २० जुलाई ;अभी तक;  जिले में बारिश का सिलसिला थमता नजर नहीं आ रहा है। बीते लगभग एक पखवाड़े से जिले भर में हो रही झमाझम बारिश से वर्षा काल के शुरूवाती एक माह में ही सीजन की 66 फीसदी बारिश हो गई है। बैतूल जिले की औसत सामान्य वर्षा 43.35 इंच है। 19 जुलाई तक बैतूल जिले में औसत 28.66 इंच बारिश हो चुकी है। गत वर्ष की तुलना में अभी तक जिले में 16.20 इंच वर्षा अधिक हुई है। गत वर्ष 19 जुलाई तक सिर्फ 12.46 इंच बारिश हुई थी।

घोड़ाडोंगरी ब्लाक में सर्वाधिक 49.18 इंच तथा आठनेर में सबसे कम 16.71 इंच वर्षा रिकार्ड की गई है। भारी बारिश के चलते तवा जलाशय के गेट खोलने के कारण मंगलवार दोपहर को सुकतवा पुल के ऊपर से 3 फीट पानी बहने से दोपहर 1 बजे से बैतूल भोपाल हाईवे पर आवागमन ठप्प हो गया। मंगलवार को भी आसमान पर घने बादल छाए रहे और जिले के विभिन्न क्षेत्रों में रूकरूककर तेज और हल्की बारिश का सिलसिला जारी रहा। मौसम विभाग ने आगामी तीन-चार दिनों तक बारिश का दौर जारी रहने की संभावना जताई है।

नदी नाले उफने, जलाशय लबालब

जिले भर में लगातार हो रही बारिश से नदी नालों में बाढ़ आ गई और अधिकतर जलाशय लबालब हो गए हैं। जिले के छोटे जलाशयों में क्षमता के मुताबिक जल भराव हो चुका है। जबकि बड़े जलाशयों में तेजी से जल भराव हो रहा है। यदि आगामी दिनों में भी बारिश का सिलसिला जारी रहा तो जुलाई माह जिले के सभी जलाशय छलकने लगेंगे। लगातार बारिश से अधिकतर कुए भी लबालब हो गए हैं।

फसलों की ग्रोथ प्रभावित

लगातार हो रही बारिश से फसलों को नुकसान होने की आशंका कृषि वैज्ञानिकों द्वारा जताई जा रही है।
झमाझम बारिश और लंबे समय से धूप नहीं निकलने से फसलों की ग्रोथ प्रभावित हो रही है। कुछ इलाकों में किसान नींदानाशक का छिड़काव नहीं कर पा रहे हैं। साथ ही मक्का की फसल में किसान खाद भी नहीं डाल पा रहे हैं। कृषि विज्ञान केंद्र बैतूलबाजार के प्रमुख डॉ. व्हीके वर्मा का कहना है कि लगातार हो रही बारिश किसी भी स्थिति में फसलों के लिए फायदेमंद नहीं है। उन्होंने कहा कि मौसम साफ होने के बाद ही फसलों को हुए नुकसान का आंकलन किया जा सकेगा।