10 घंटे बिजली सप्लाई और रोटेशन बदले बिजली कंपनी, बाजार में उपलब्ध कराए नकद खाद; सिस्टम नहीं सुधरा तो करेंगे उग्र आंदोलन

मयंक शर्मा
खंडवा २३ नवंबर ;अभी तक;  भारतीय किसान संघ ने मंगलवार को खंडवा कलेक्टर से मिलकर उन्हें नोटिस दिया है। इसमें 13 बिंदुओं पर आवश्यक कार्रवाई के लिए कहा गया है। अन्यथा चेतावनी दी है कि, अगले सप्ताह से उग्र आंदोलन किया जाएगा।
ज्ञापन में प्रमुख रुप से 10 घंटे बिजली सप्लाई को दुरुस्त कर रोटेशन में बदलाव और बाजार में नकद खाद की उपलब्धता कराने को कहा गया है।
किसान नेताओं के मुताबिक, 2018, 2019 और 2020 की बीमा राशि अब तक किसानों के खातों में ट्रांसफर नहीं की गई। यह राशि का भुगतान जल्द किया जाए। इसके साथ 75फीसदी  बची राहत राशि भी जल्द जारी करें। रबी सीजन में सिंचाई के लिए 1, 2 व 3 माह के लिए बिजली कनेक्शन दिया जाए।
किसानो ने कहा कि  बैंक ऑफ इंडिया बोरगांव बुजुर्ग और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया रुस्तमपुर में हुए भ्रष्टाचार को लेकर कार्रवाई की जाए। खालवा क्षेत्र में समर्थन मूल्य पर मक्का की खरीदी शुरु करें। सूखाग्रस्त छैगांवमाखन में उद्वहन सिंचाई का पानी छोड़ा जाए। पूरे जिले में सोयाबीन, कपास की फसलें नष्ट हुई है, इनका जल्द सर्वे कराया जाए।
0 मजबूरन आए कलेक्टर
भारतीय किसान संघ के कार्यकर्ता कलेक्टर से मिलने पहुंचे तो उन्हें रोक दिया गया। कहा गया कि, कलेक्टर विधायकों के साथ बैठक कर रहे है। आपका ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर लेंगे। इस पर किसान आक्रोशित हो गए, उनका कहना था कि हमने आने से पहले कलेक्टर से समय ले लिया था। किसानों ने जमीन पर बैठकर नारेबाजी की तो कलेक्टर अनय द्विवेदी मीटिंग छोड़कर सूचना पत्र लेने आए।

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *