10 में से 7 नगरीय निकायों में बनेगी महिला अध्यक्ष

2:37 pm or June 1, 2022

मयंक भार्गव

बैतूल एक जून ;अभी तक;  नगरीय निकाय चुनाव में अध्यक्ष पद का आरक्षण होने के बाद अब जिले की नगरीय निकायों में महिलाओं का बोलबाला रहेगा। जिले की दस नगरीय निकायों में से 7 निकाय में अध्यक्ष का पद महिलाओं के लिए आरक्षित हो गया है। जिसमें बैतूल, मुलताई, नगरपालिका के साथ भैंसदेही, आठनेर, चिचोली, बैतूलबाजार, नगरपरिषद अध्यक्ष अनारक्षित महिला के लिए घोड़ाडोंगरी अध्यक्ष अनुसूचित जनजाति महिला और बैतूलबाजार परिषद अध्यक्ष अन्य पिछड़ा वर्ग महिला के लिए आरक्षित हो गया है। वहीं पुरूषों के लिए सिर्फ तीन निकाय बचे है जिसमें शाहपुर नगर परिषद में अध्यक्ष का पद अनारक्षित, आमला और सारणी नगरपालिका में अनुसूचित जाति वर्ग के लिए आरक्षित हुआ है। हालांकि अभी चिचोली, आठनेर नगर परिषद और सारणी नगरपालिका में चुनाव नहीं होने है लेकिन आगामी चुनाव के लिए अध्यक्ष पद का आरक्षण हो गया है।

रविन्द्र भवन भोपाल के ऑडिटोरियम मंगलवार को प्रदेश के नगरीय निकायों में अध्यक्ष पद का आरक्षण किया गया नगरीय निकाय चुनाव में महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण होने के चलते जिन परिषदों में अभी पुरूष अध्यक्ष थे वे महिलाओं के लिए आरक्षित हो गए वहीं जहां महिलाए अध्यक्ष थी वे मुक्त हो गए है। जिले के दस नगरीय निकाय में से सारणी, आमला में वर्तमान में महिला अध्यक्ष है। इन दोनों नगरपालिका का अध्यक्ष पद अनुसूचित जाति वर्ग के लिए आरक्षित हो गया। वहीं इस बार बनी शाहपुर नगर परिषद में अध्यक्ष पद अनारक्षित है।

इसके अतिरिक्त नई नगर परिषद घोड़ाडोंगरी के साथ ही पुरानी छह निकाय बैतूल, मुलताई नपा, बैतूलबाजार, आठनेर, भैंसदेही, चिचोली नगर परिषद इस बार महिला वर्ग के लिए आरक्षित है। हालांकि इस बार नगर पालिका और नगरपरिषद अध्यक्ष का चुनाव अप्रत्यक्ष प्रणाली से होगा जिसके चलते अध्यक्ष बनने की इच्छुक महिला को पार्षद  का चुनाव जीतने के साथ ही पार्षदों का बहुमत भी हासिल करना होगा तब ही अध्यक्ष पद पर काबिज हो सकते है।