18 राईस मिलर्स द्वारा कस्टम मिलिंग के माध्यम से प्रदाय किये गये अमानक चांवल का स्टाक आगामी आदेष तक वापस नही

आनंद ताम्रकार
बालाघाट १५ सितम्बर ;अभी तक;  जिले के 18 राईस मिलर्स द्वारा कस्टम मिलिंग के माध्यम से प्रदाय किये गये अमानक चांवल का स्टाक आगामी आदेष तक वापस नही किया जायेगा। उक्त भण्डारित चांवल के संबंध में जो पषु आहार क्वालिटी का पाया गया है उसका वैधानिक परीक्षण कर ततसंबंध में निर्णय लिया जायेगा।
                उक्ताषाय का निर्देष खादय,नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण संचालनालय के संचालक श्री तरूण कुमार पिथोडे द्वारा पत्र क्रमांक 6451 दिनांक 11 सितंबर 2020 के माध्यम से प्रबंध संचालक मध्यप्रदेष राज्य विपणन संघ मर्यादित भोपाल एवं प्रबंध संचालक म.प्र.स्टेट सिविल सप्लाईज कापोरेषन लि.भोपाल को जारी किया गया है।
               जारी किये गये निर्देष में उल्लेख किया गया है सार्वजनिक वितरण एवं अन्य कल्याणकारी योजनाओं में वितरण के लिये निर्धारित मानक,गुणवत्ता का चांवल प्रदाय करने के सबंध में उपायुक्त एसीआर भारत सरकार खादय एवं सार्वजनिक वितरण विभाग का पत्र क्रमांक 8-2/2019,एस एण्ड आइ कृषि भवन नई दिल्ली दिनांक 27 सितंबर 2019 के आधार पर सार्वजनिक वितरण एवं अन्य कल्याणकारी योजनाओं में वितरण के लिये भारत सरकार द्वारा संदर्भित पत्र के माध्यम से चांवल के यूनिफार्म इस्पेषिफिकेषन की अधिकतम स्वीकार सीमा निर्धारित की गई है। भारत सरकार के निर्देषानुसार भारतीय खादय निगम के द्वारा गठित संयुक्त जांच दलों द्वारा प्रदेष के गोदामों से चांवल के लिये गये सेंपल के पूनर्वर्गीकरण की प्राप्त रिपोर्ट के आधार पर चांवल टीपीडीएस एवं ओडब्ल्यूएस में चांवल के वितरण के सबंध में निम्नानुसार कार्यवाही किया जाना सुनिष्चित करायें।
            1 भारतीय खादय निगम से प्राप्त हुई पूनर्वर्गीकरण की रिपोर्ट के अनुसार जिलों में भण्डारित ऐसे स्टाक जो टीपीडीएस पीएमजीकेएवाय एवं ओडब्ल्यूएस चांवल के वितरण के लिये निर्धारित अधिकतम स्वीकारसीमा के अंतर्गत हो से ही सार्वजनिक वितरण प्रणाली एवं अन्य कल्याणकारी योजनाओं में वितरण हेतु चांवल प्रदाय कराया जाये। निर्धारित अधिकतम स्वीकार सीमा का उल्लेखन संदर्भित पत्र में किया गया है।सीमा से किसी भी पेरामीटर में अधिक पाये चांवल को संबंधित मिलर्स को वापस कर मानक गुणवत्ता का चांवल प्राप्त किया जाये।निर्धारित समयसीमा पर मानक गुणवत्ता का चांवल जमा नही कराये जाने की स्थिति में मिलिंग नीति 2019-20 तथा मिंलिग नियत्रंण आदेष के आधार पर कार्यवाही सूनिष्चित की जाये।
                  यह उल्लेखनीय है की श्री विष्वजीत हलधर उपायुक्त खादय मंत्रालय भारत शासन नई दिल्ली द्वारा किये गये निरीक्षण में 18 राईस मिलर्स का चांवल अमानक पाये जाने पर गोदामों को सील कर दिया गया था एवं बिजली के कनेक्षन काट दिये गये थे लेकिन भोपाल से आये आदेष के तहत आनन फानन में गोदामों में लगी सील को तोड दिया गया एवं बिजली कनेक्षन बहाल कर दिये गये एवं यह बताया गया की भण्डारित राईस मिलर्स को वापस कर दिया जायेगा और उनसे अपग्रेड करवाकर निर्धारित मापदण्ड का चंावल वापस लिया जायेगा। लेकिन संचालक नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण संचालनालय द्वारा प्रेषित किये गये पत्र के आधार पर स्पष्ट हो गया पीएफए लिमिट के विपरित प्रदाय किये गये अमानक चांवल को अग्रिम आदेष तक वापस नही किया जायेगा।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *