1857 की क्रांति की महान योध्दा रानी लक्ष्मीबाई के जन्म जयंति पर माल्यार्पण कर नमन किया

5:02 pm or November 19, 2022
महावीर अग्रवाल
मंदसौर १९ नवंबर ;अभी तक;  बिट्रीश हुकूमत के खिलाफ 1857 की क्रांति की प्रमुख योध्दा महान स्वाधीनता संग्राम सेनानी रानी लक्ष्मीबाई के जन्म जयंति के उपलक्ष्य में कांग्रेस द्वारा माल्यार्पण किया गया। संजीत नाका स्थित लक्ष्मीबाई प्रतिमा पर कांग्रेसजनो ने माल्यार्पण कर उनके कार्यो का स्मरण किया।
                          जिला कांग्रेस प्रवक्ता एवं कार्यक्रम संयोजक श्री सुरेश भाटी ने उपस्थित मिडीयाकर्मियो से चर्चा में कहा कि यह महान संयोग ही कहा जायेगा कि एक वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई ने परतंत्र भारत को स्वाधीन कराने के लिये बलिदान दिया वही दुसरी महान नेत्री स्वगीय इंदिराजी ने देश को मजबूत एवं सशक्त बनाया है जिनका आज जन्मदिवस है। इस दौरान उन्होनें कहा कि अगर ग्वालियर सिंधिया घराना रानी लक्ष्मीबाई का साथ दे देता तो उस समय ही शायद देश आजाद हो जाता किन्तु ऐसा नही हो सका। यह अफसोस जनक है कि एक ओर नगर पालिका मंदसौर गौरव दिवस पर पोस्टरो में रानी लक्ष्मीबाई के चित्र का प्रयोग कर रही है किन्तु दुसरी ओर उनकी जयंति पर भी उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण के लिये सीढियो की व्यवस्था तक नही कर सकी।
      इस अवसर पर अजा विभाग अध्यक्ष संदीप सलोद, सेवादल अध्यक्ष दिलीप देवडा, मंडलम अध्यक्ष दशरथसिंह राठौड, सादीक गौरी, खुर्शीद आलम, दिनेश चंद्रवंशी सहित अनेक कांग्रेसजन उपस्थित थे।