20 हजार रु की रिश्वत लेते पकड़ा गया कर्मी

2:36 pm or May 6, 2022
महावीर अग्रवाल
मंदसौर ६ मई ;अभी तक;  लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग का एक कर्मी एक अपने साथी कर्मचारी के रिटायर होने पर जीपीएफ आदि के प्रकरण के निराकरण के लिए 20 हजार रु की रिश्वत लेते आर्थिक अपराध अनुसंधान ब्यूरो ने रंगे हाथ पकड़ा।
                   आर्थिक अपराध अनुसंधान ब्यूरो प्रकोष्ठ उज्जैन के डीएसपी श्री अजय केथवास ने बताया कि इस विभाग के पम्प टेक्नीशियन प्रेम शंकर प्रधान 31 मार्च 2022 को रिटायर हुए। इनकी शिकायत पर अनुसंधान ब्यूरो ने अपनी टीम के साथ कार्यपालन यंत्री पीएचई मंदसौर के कार्यालय में पदस्थ सैयद मुजीबुर्रहमान 43 सहायक ग्रेड -3 को रिटायर कर्मी श्री प्रधान के पेंशन प्रकरण व जीपीएफ आदि की फाइल के निराकरण के लिए 20 हजार रु की रिश्वत लेते पकड़ा गया। रिश्वत की राशि पेंट की जेब मे रखने पर पेंट और हाथ धुलवाए गए जो लाल हो गए। डीएसपी श्री केथवास ने बताया कि प्रकरण भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत दर्ज कर सैयद मुजीबुर्रहमान को हिरासत में लेकर अभी आगे की कार्यवाही जारी है।
                उन्होंने यह भी बताया कि सैयद मुजीबुर्रहमान अनुकम्पा नियुक्ति में 24 जून 1997 को सहायक ग्रेड -3 को इस विभाग में नोकरी में लगा था। झाबुआ , अलीराजपुर आदि स्थानों पर यह रहा है। मंदसौर में यह 2015 से पदस्थ था और विभाग में स्थापना व लेखा शाखा सम्बन्धी कार्य देखता था।
छापे के समय अनुसंधान ब्यूरो के इंस्पेक्टर श्री अनिल शुक्ला, श्री पी के व्यास ,एएसआई श्री अशोक राव आदि थे।