2021में  छतरपुर ज़िले में अपराध घटे,

रवींद्र व्यास
    छतरपुर  एक जनवरी ;अभी तक;  पुलिस प्रशासन ने एक जानकारी मे दावा किया है कि  अनिल शर्मा, पुलिस महानिरीक्षक सागर जोन, के मार्गदर्शन एवं  विवेक राज सिंह, पुलिस उपमहानिरीक्षक छतरपुर रेंज छतरपुर के निर्देशन में पुलिस अधीक्षक छतरपुर  सचिन शर्मा के कुशल नेतृत्‍व में वर्ष 2021 मे छतरपुर पुलिस ने  सफलता  के नये आयाम स्थापित किये हैं।
                     विगत दस वर्षो मे जिला छतरपुर मे हत्या की सबसे कम घटनाये घटित हुई, साथ ही विगत वर्ष की तुलना मे इस वर्ष हत्या के प्रकरणों मे 61% की कमी एवं हत्या के प्रयास के प्रकरणों मे 62% की कमी आई है। लूट/डकैती, बलवा/दंगा की घटनाऐं भी विगत दस वर्षो की तुलना में वर्ष 2021 मे अप्रत्याशित कमी आई है। इस वर्ष केवल एक डकैती की घटना घटित हुई जिसमे तत्काल पुलिस ने सभी आरोपियों को मय संपूर्ण अपहृत संपत्ति के गिर0 किया गया है।
                    विगत दस वर्षो की तुलना में इस वर्ष संपत्ति संबंधी अपराधों में अपृहत संपत्ति की बरामदगी का प्रतिशत भी 50.47%  रहा जो विगत 10 वर्षो की बरामदगी में सर्वश्रेष्ठ है। जिसका प्रमुख कारण गंडे/बदमाशों एवं असामाजिक तत्वों के विरूद्व विगत दस वर्षों मे की गई सुनियोजित एवं अधिकतम प्रतिबंधात्मक कार्यवाही रही है।
                विगत दस वर्षों की तुलना मे लघु अधिनियम की कार्यवाही (चुनावी वर्ष को छोडकर) अवैध शस्त्र रखने वाले व्यक्तियो के विरूद्व वर्ष 2021 मे लगभग दोगुना कार्यवाही की गई है। अवैध शराब बिक्री करने वाले के विरूद्व भी कार्यवाही करते हुये वर्ष 2021 में 2023 प्रकरण तैयार किये गये है जो विगत दस वर्षो की तुलना में दोगुना/तीनगुना वृद्धि  है।
                  जुआ फड पर भी विगत दस वर्षो मे अधिकतम कार्यवाही करते हुये वर्ष 2021 में 446 प्रकरण तैयार किये गये हैं। आम जनता को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से एवं आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी रोकने के लिये विगत दस वर्षों की तुलना मे इस वर्ष 2021 मे अधिकतम आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत 17 प्रकरण तैयार किये गये।
      गंडे/बदमाशों एवं आपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों पर पूर्णतः नियंत्रण के उद्देश्य से उनके विरूद्व इस वर्ष धारा 110 जा.फौ. के अंतर्गत 1985 व्यक्तियों एवं धारा 107/116(3) जाफौ के तहत 17862 प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की गई जो विगत 10 वर्षों की तुलना में अधिकतम है। 87 आदतन गुडा/बदमाशो के विरूद्व जिला बदर प्रकरण तैयार किये गये जिनमे से 69 व्यक्तियों के विरूद्ध अंतिम आदेश प्राप्त कर जिला सीमा से बाहर किया गया है।
     गुंडे/बदमाशों एवं आपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों पर पूर्णतः नियंत्रण हेतु जो व्यक्ति प्रतिबंधात्मक कार्यवाही के बाद भी लगातार अपराधिक गतिविधियों मे संलिप्त होकर आम जनता मे लगातार भय को माहौल व्यापत किये थे एवं बल पूर्वक अवैधानिक तरीके से जमीन पर अवैध कब्जा कर अवैध निर्माण किये थे इनके निर्माण हटाये गये हैं।