25 विधायकों का मर गया था जमीर, इसलिए जनता पर थोपा गया चुनाव-कमल नाथ

6:38 pm or October 30, 2020
25 विधायकों का मर गया था जमीर, इसलिए जनता पर थोपा गया चुनाव-कमल नाथ

प्रेम वर्मा

राजगढ़ 30 अक्टूबर :अभी तक: प्रदेश में २८ सीटों पर उपचुनाव की स्थिति बनी है। तीन सीटों पर विधायकों का निधन हो गया था, लेकिन बाकी 25 सीटों पर विधायकों का जमीर मर गया था। उक्त बात प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ब्यावरा में कांग्रेस प्रत्याशी के समर्थन में स्थानीय नपा कम्प्लेक्स में हुई सभा में कही। कमल नाथ ने कहा कि भाजपा जो सौदेबाजी कर रही है यह लोकतंत्र  के लिए घातक है। भाजपा लोगों को बहकाने के लिए हवाई वादे कर रही है। हाल में ही शिवराज ने कहा था कि हम लोगों को कोरोना वैक्सीन मुफ्त में देंगे जबकि देश के स्वास्थ्य मंत्री पहले ही कह चुके है कि सभी देशवासियों को कोरोना वैक्सीन मिलेगी। हांलाकि अभी तक कोरोना वैक्सीन बनी ही नहीं है और मतदाताओं को गुमराह कर रहे हैं।

100 रुपए में 100 यूनिट बिजली देंगेः

                     पूर्व मुख्यमंत्री नाथ ने कहा कि हमारी १५ माह की सरकार ने किसानों व आमजनों की भलाई के लिए कई कदम उठाए थे, जिन्हें वर्तमान सरकार ने बंद कर दिया। बिजली के बिल भारी भरकम आ रहे है जबकि हमारे कार्यकाल में काफी राहत प्रदान की गयी थी। प्रदेश में कांग्रेस सरकार आने पर 100  रुपए में 100 यूनिट बिजली देंगे और  बचा हुआ ऋण माफ करेंगे। उन्होंने कृषि बिल को किसान विरोधी बताया और कहा कि इससे मंडियां बंद हो जाएंगी। किसान अपने ही खेत में बंधुआ मजदूर हो जाएगा। हम ऐसी स्थिति आने नहीं देंगे और किसानों के हितों के लिए कांग्रेस सड़क पर उतरेगी।  हमने शुद्ध का युद्ध अभियान शुरू किया, दूध का भाव बढ़ा इन्होंने उसे भी बंद कर दिया। इस दौरान  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कांतिलाल भूरिया, छिंदवाड़ा सांसद नुकल नाथ, ब्यावरा प्रत्याशी रामचंद्र दांगी, जिला अध्यक्ष प्रकाश पुरोहित, पूर्व विधायक पुरषोत्तम दांगी, चंदर सिंह सोंधिया, डां भारत वर्मा सहित अन्य कांग्रेसी मौजूद रहे।

दिग्विजय ने दो बार किया सभा को संबोधितः

                    सभा को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने दो बार संबोधित किया। दरअसल, कमल नाथ ने ब्यावरा पहुंचने के बाद सबसे पहले अस्पताल रोड पर विधानसभा के सेक्टर प्रभारी व अन्य पदाधिकारियों को संबोधित किया और इस दौरान दिग्विजय सिंह ने पीपल चौराहे पर सभा में उपस्थित जनसमूह को संबोधित किया । इसके बाद कमल नाथ सभा स्थल पर पहुंचे तो श्री सिंह द्वारा दोबारा सभा को संबोधित किया ।  सिंह ने कहा कि भाजपा ने मवेशियों की तरह विधायकों की बोली लगाकर सरकार गिराई है। मध्यप्रदेश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ कि विधायक करोड़ों में बिक गए। ऐसा होना लोकतंत्र के लिए घातक है और जनता के साथ धोखा है। उन्होंने सिंधिया और शिवराज को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि शिवराज अब मंच से झुककर प्रणाम कर रहे हैं क्योंकि उन्हें डर है कि सत्ता हाथ से चली जाएगी। सिंधिया को हमने पूरी तवज्जो दी, मान दिया, सम्मान दिया और पद दिया लेकिन बीजेपी ने उन्हें किनारे कर दिया।

महाराज का नाम लिखा जाएगा काले अक्षरों में:

                  सभा को कल्की पीठाधीश्वर प्रमोद कृष्णम ने संबोधित करते हुए कहा कि जब भी मध्यप्रदेश के राजनीतिक इतिहास के पृष्ठ पलटे जाएंगे तो उसमें एक पन्ना निर्वाचित सरकार को गिराने का भी होगा। जिसमें महाराज का नाम काले अक्षरों से लिखा जाएगा। जबकि स्वर्णिम स्याही से कमलनाथ का नाम लिखा मिलेगा। आपको तय करना है कि एक तरफ धोखा खाने वाले हैं और एक तरफ धोखा देने वाले, आपको तय करना हैं किसका साथ देना है। सिंधिया ने कमलनाथ की पीठ में छूरा घोपा है। कमलनाथ का दोष क्या था यह कि उन्होंने गौ शालाएं बनाईं, यह कि सस्ती बिजली दी या यह कि ऋण माफ किया। जैसे महाभारत में द्रोपदी की लाज बचाने जनार्धन प्रकट हुए थे वैसे ही लोकतंत्र की लाज बचाने कमलनाथ प्रकट हुए हैं।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *