नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल द्वारा पारित आदेश के खिलाफ दायर की गई याचिका निराकृत

7:32 pm or November 18, 2021

आनंद ताम्रकार

बालाघाट १८ नवंबर ;अभी तक;  जिला मुख्यालय बालाघाट में शहर के मध्य स्थित प्राचीन देवी तालाब की भूमि पर किये गये अतिक्रमण को हटाये जाने के संबंध में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल द्वारा पारित आदेश के खिलाफ दायर की गई याचिका निराकृत कर दी गई है।

माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर के मुख्य न्यायाधीश श्री रवि मलीमथ एवं जस्टिस श्री विजय कुमार शुक्ला की युगलपीठ ने गत 10 नवंबर 2021 को पारित आदेश विचाराधीन प्रकरण को अग्रिम सुनवाई के लिये एनजीटी को भेजते हुए आदेश तिथि से 3 माह में निराकरण करने के निर्देश जारी किये है।

यह उल्लेखनीय है कि बालाघाट के देवी तालाब की भूमि पर अतिक्रमण किये जाने के संबंध में एनजीटी भोपाल में याचिका दायर की गई थी याचिका की सुनवाई करते हुए एनजीटी ने निकाय को तालाब की भूमि पर किये गये अतिक्रमण हटाने के संबंध में निर्देश जारी किये थे जिसके आधार पर स्थानीय निकाय द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही के विरूद्ध उच्च न्यायालय में याचिका दायर की गई थी।

याचिका की सुनवाई के दौरान युगलपीठ से आग्रह किया गया की प्रकरण की सुनवाई एनजीटी के द्वारा की जाये जिसे युगलपीठ ने आग्रह को स्वीकार करते हुये एनजीटी को सुनवाई के निर्देश जारी किये है।

याचिकाकर्ता से प्राप्त जानकारी के अनुसार देवी तालाब की 16.14 एकड़ भूमि पर 111 व्यक्तियों द्वारा अतिक्रमण कर पक्का निर्माण कर लिया गया है जिसके कारण तालाब के रकबे में कमी आ गई है।