68 वी राज्य स्तरीय सीनियर बालक बालिका वॉलीबॉल प्रतियोगिता के लिए मंदसौर टीम रवाना

8:12 pm or January 15, 2023
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर १५ जनवरी ;अभी तक;  68 वी मध्य प्रदेश राज्य स्तरीय सीनियर वाॅलीबॉल चैंपियनशिप जो दिनांक 16/01/2023 से 19/01/2023 तक नरसिंहपुर में आयोजित जा रही है.
                                 इस राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता के लिए मंदसौर जिला वाॅलीबॉल एसोसिएशन की बालक टीम क्रमशः चयन माली (कप्तान) शोएब खान, गणेश पररसांडिया, कुणाल मिश्रा, अनिल दास बैरागी, मयंक जायसवाल, शिवम पाटीदार, युवराज ग्वाला, हिमांशु पाटीदार, अशंराज सिंह चुंडावत, चंद्रशेखर बैरागी, पीयूष पादीदार, व बालिका टीम क्रमशः आस्था भावसार (कप्तान), दिव्यांशी गुप्ता, नेहा सालवी, जानवी हाड़ा, खुशी ग्वाला, रंजना कैथवास, चंचल सालवी, रितिका बैरागी, हिमशिखा यादव, निशा वाघेला, मीनाक्षी कुमावत, अल्फिया खान, आदि इस प्रकार है इनके रवाना होने पर जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष श्री नरेश चंदवानी न.प .पार्षद   श्री आशीष गौड़   , मंदसौर जिला वाॅलीबॉल एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री नरेंद्र सिंह चौहान एवं सदस्यगण विनय दुबेला, संदीप खाबियाॅ, शेर मोहम्मद खान, सज्जन श्रीमाल, रोहित शर्मा, अनिल पाटीदार, रउफ खान, रितेश पोरवाल, अनिल पाटीदार, मिलिंद सांखला, रंजन छाबड़ा, राजेंद्र सिंह, अभिषेक सेठिया, अक्षय नलवाया, मोहित शर्मा, शैलेंद्र मसीही, अभिषेक यादव, पंकज मालवीय, आशीष रेठा,  विनय अग्रवाल, संयम चौहान, नमन शर्मा ,  कविता मेघवाल , आकृति जैन  और जिला खेल एवं युवक कल्याण विभाग मंदसौर के खेल अधिकारी श्री विजेंद्र देवड़ा, जिला क्रीड़ा अधिकारी मंदसौर श्री अशोक शर्मा, पीजी कॉलेज मंदसौर के खेल अधिकारी राजू कुमार ,पी.जी कॉलेज दलौदा  के खेल अधिकारी अब्दुल रजाक, उत्कृष्ट विद्यालय मंदसौर के वरिष्ठ व्यायाम शिक्षक श्री महेंद्र शुक्ला , महारानी लक्ष्मी बाई कन्या उ.मा.वि मंदसौर की वरिष्ठ व्यायाम शिक्षिका श्रीमती शांता व्यास   शा. लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल उ. म. विद्यालय मंदसौर  के व्यायाम शिक्षक  श्री रघुवीर मालवीय व जिला वाॅलीबॉल एसोसिएशन के सचिव श्री त्रिभुवन कविश्वर ने बधाई दी और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की , इस राज्य स्तरीय वॉलीबॉल प्रतियोगिता में चयन खिलाड़ी आगामी राष्ट्रीय सीनियर बालक/बालिका प्रतियोगिता में भाग लेंगे यह जानकारी जिला वाॅलीबॉल एसोसिएशन के सचिव श्री त्रिभुवन कविश्वर ने दी।