दर्द निवारक दवाइयों के अंधाधुंध प्रयोग से किडनी प्रभावित होती है-नेफ्रोलॉजिस्ट डॉ. मोहित नरेडी

7:52 pm or September 17, 2023
महावीर  अग्रवाल 
मन्दसौर १७ सितम्बर ;अभी तक;  पेसिव मेडिकल कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर नेफ्रोलाजिस्ट डॉ. माहित नरेड़ी ने लायंस क्लब के पमनानी हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेंटर पर आयोजित किडनी रोग चिकित्सा शिविर में कहा कि आज के समय में डायबिटिज (मधुमेह) की भारत राजधानी बनती जा रही है, जिसके कारण समय पर मधुमेह का इलाज नहीं किया गया तो कई समस्याएं खड़ी हो सकती है। उसमें किडनी का रोग भी सम्मिलित है। आपने कहा कि दर्द निवारक दवाइयों के उपयोग से किडनी को क्षति पहुंचती है, इसी तरह किडनी का स्टोन भी किडनी को नुकसान पहुंचाता है। इसके अलावा उक्त रक्तचाप और तनाव भी रोगों का घर है। इसलिये अपने खाने व पीने पर अधिक ध्यान दे। नमक कम खाएं, पानी खूब पीएं और समय-समय पर जांच कराते रहे।
                            पमनानी हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेंटर के संचालक डॉ. सुरेश पमनानी ने डॉ. नरेडी का परिचय दिया कि डॉ. नरेडी पड़ोस के शहर नीमच के रहने वाले ह। सेवा भावना के कारण मंदसौर शहर के लिये समर्पित भाव से कार्य कर रहे है।
                              लायन अध्यक्ष डॉ. मजहर हुसैन ने डॉ. नरेडी की सेवाओं की प्रशंसा करते हुए कहा कि किडनी शरीर का ऐसा अंग है जिसकी सुरक्षा करना अति आवश्यक है। किडनी की क्षति हो जाने के बाद ठीक करना अत्यंत ही कठीन है।
                                कार्यक्रम के प्रारंभ में वरिष्ठ लायन सुरेन्द्र नाहटा, लायन डॉ. देवेन्द्र पुराणिक, सुभाष बग्गा, लोकेन्द्र धाकड़, नेमकुमार गांधी, सत्यनारायण छापरवाल, रवि रिझवानी, आशीषसिंह मण्डलोई, एड. गौरव रत्नावत, डॉ. विक्रांत भावसार, मुकेश माहेष्वरी ने पुष्पहार पहनाकर स्वागत किया। इस दौरान किडनी पीड़ित 25 रोगियों की चिकित्सा कर उन्हें लाभ पहुंचाया गया। आभार लायन सचिव प्रेमदेव पाटीदार ने माना।