ऐतिहासिक तपस्याओं की अनुमोदनाओ के लिए विशाल चोबीसी में उमड़ा जन सैलाब

6:43 pm or September 8, 2021
ऐतिहासिक तपस्याओं की अनुमोदनाओ के लिए विशाल चोबीसी में उमड़ा जन सैलाब
महावीर अग्रवाल
मंदसौर ८ सितम्बर ;अभी तक;  तीर्थ धाम श्री अजीतनाथ जैन मंदिर जनकुपूरा की पौषधशाला में चातुर्मास हेतु विराजित साध्वीश्री डाॅ. अमृतरसाश्रीजी मसा साध्वीश्री निरागरसाश्रीजी मसा और साध्वीश्री जिनांशरसा श्रीजी मसा की पावन निश्रा मे त्रिस्तुतिक जैन समाज के तत्वावधान में पर्यूषण पर्व के अवसर पर ऐतिहासिक अठाई तप आराधना के अवसर पर 8 सितम्बर बुधवार को 120 से अधिक तपस्वियों की अनुमोदनार्थ एक विशाल चोबीसी (धार्मिक गीत संगीत) का विशाल कार्यक्रम जीवागंज स्थित राजेन्द्र विलास के पुण्यसम्राट तपस्या मंडप में हर्षोल्लास के साथ संपन्न हुआ।
             नगर में पहली बार इतना भव्य चोबीसी के कार्यक्रम में नगर के विभन्न समाज वर्ग के प्रतिनिधियों ने सहभागिता दर्ज कर तपस्वियों की खूब – खूब अनुमोदना की। जैन समाज के वयोवृद्ध श्रावकों का कहना था कि पिछले सौ वर्षो में एक मण्डप के नीचे इतनी बड़ी समस्याएं होना मात्र त्रिस्तुतिक जैन समाज  के लिए ही गौरव की बात नहीं है अपितु मालवांचल के सकल जैन समाज के लिए एक प्रेरणा पुंज है।
             चैबीसी के अवसर पर साध्वी श्री डाॅ. अमृतरसाश्रीजी मसा द्वारा तप तपस्या का वर्णन किया गया। इससे पहले सुबह पर्यूषण पर्व के छठें दिन मसाजी द्वारा कल्पसूत्र का वाचन किया गया। इस अवसर पर प्रवचन के पश्चात प्रभावना मांगीलाल मेघराजजी फांफरिया परिवार ओर उमरावसिंह जी सोनगरा परिवार द्वारा की गई वहीं चैबीसी की प्रभावना का लाभ त्रिस्तुतिक जैन श्रीसंघ द्वारा लिया गया।