केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने रतलाम निवेश क्षेत्र को दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे से संबद्ध करने की सैद्वांतिक स्वीकृति दी

अरुण त्रिपाठी
रतलाम, 9 सितंबर ९ सितम्बर ;अभी तक;  रतलाम में प्रस्तावित 1800 हेक्टेयर निवेश क्षेत्र अब दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे के साथ संबद्ध होगा। केन्द्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने रतलाम विधायक चेतन्य कुमार काश्यप  के साथ हुई चर्चा में इस प्रस्ताव को सैद्धांतिक मंजूरी प्रदान कर दी है। श्री गडकरी ने कहा कि इसके निर्माण के संबंध में खुद उनका मंत्रालय मध्यप्रदेश सरकार से चर्चा कर इस काम को जल्दी ही अंजाम देगा।
               रतलाम की उपलब्धियो में इससे एक नया अध्याय जुड़ेगा| केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे के जावरा निरीक्षण से पहले रतलाम को एक और सौगात दे दी है । रतलाम विधायक चेतन्य काश्यप की मांग पर उन्होने रतलाम के एमपीआईडीसी द्वारा प्रस्तावित 1800 हेक्टेयर के निवेश क्षेत्र को दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे से संबद्ध करने की मौखिक सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान करते हुए आश्वस्त किया है कि इस संबंध में जल्द ही मध्यप्रदेश सरकार से चर्चा कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
              विधायक श्री काश्यप ने बताया कि श्री गडकरी के इस फैसले से बड़ी सख्या में निवेशक इस क्षेत्र में आकर्षित होगें। उक्त निवेश क्षेत्र को दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे से संबद्ध करने से इसका व्यापक प्रचार-प्रसार भी होगा। यह क्षेत्र रतलाम-झाबुआ आदिवासी संसदीय क्षेत्र में आता है।इससे उपरोक्त आदिवासी अंचल में रोजगार की व्यापक संभावना निर्मित होगी।
                   गौरतलब है कि विधायक श्री काश्यप की पहल पर वर्ष 2014 में डीएमआईसी योजना के तहत कंसलटेंट ली एसोसिएट ने इस निवेश क्षेत्र का डीपीआर एमपीआईडीसी को भेजा था|  उक्त प्रस्तावित निवेश क्षेत्र दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे के रतलाम निकास मार्ग से सिर्फ 8 किलोमीटर की दूरी पर ही स्थित है| पश्चिम रेलवे के दिल्ली-मुंबई रूट के रतलाम रेलवे जंक्शन से भी मात्र 5 किलोमीटर दूरी पर है। रतलाम की हवाई पट्टी भी इसके निकट है| इस हवाई पट्टी को एयरपोर्ट आथोरिटी द्वारा क्षेत्रीय परिवहन (उड़ान) से भी संबद्धता का आश्वासन केंद्रीय मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा घोषित किया गया है।