कोविड-19 में अनाथ हुए 11 बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देगा आरडी पब्लिक स्कूल

मयंक भार्गव

बैतूल ३ सितम्बर ;अभी तक;  दीन दुखियों और गरीब जरूरतमंद लोगों की सेवा में हमेशा तत्पर रहने वाले खंडेलवाल परिवार द्वारा वैश्विक महामारी कोविड संक्रमण में अपने माता-पिता को खोलने वाले अनाथ विद्यार्थियों की शिक्षा का जिम्मा उठाया है। कोविड संक्रमण काल में अनाथ हुए स्कूल में अध्ययनरत विद्यार्थियों को आरडी पब्लिक स्कूल में कक्षा बारहवीं तक की नि:शुल्क शिक्षा देने का निर्णय लिया है। आरडी पब्लिक स्कूल द्वारा अब तक ऐसे अध्ययनरत 11 बच्चों का चयन कर उनका आरडी पब्लिक स्कूल में विभिन्न कक्षाओं में नि:शुल्क एडमिशन करवाया है। स्कूल के प्राचार्य हेमंत मेहर ने गुरूवार को जिला शिक्षा अधिकारी को नि:शुल्क शिक्षा प्राप्त करने वाले अध्ययनरत 11 विद्यार्थियों की सूची सौंपी। इसके साथ ही आरडी पब्लिक स्कूल द्वारा गरीब तबके के लगभग एक सैकड़ा विद्यार्थियों को स्कूल में अध्ययन के लिए आर्थिक मदद दी जा रही है।

आरडी पब्लिक स्कूल के प्राचार्य हेमंत मेहर ने बताया कि वैश्विक महामारी कोविड-19 ने पूरी दुनिया में कोहराम मचाया है। कोविड संक्रमण से हजारों लोग असमय ही काल के गाल में समा गया हैं। कई बच्चों के अभिभावक भी कोविड का शिकार होकर दुनिया छोड़ चुके हैं जिससे ये बच्चे अनाथ हो गए हैं। इनके सामने शिक्षा जारी रखना सबसे बड़ी चुनौती बन गई है। ऐसे में आरडी स्कूल संचालित करने वाले खण्डेलवाल परिवार ने इन बच्चों की सुध ली।

खण्डेलवाल परिवार और आरडी स्कूल प्रबंधक द्वारा अभी तक ऐसे अध्ययनरत 11 बच्चों को चिन्हित किया जा चुका है। ऐसे बच्चों को अब  नि:शुल्क कक्षा बारव्हीं तक शिक्षा उपलब्ध कराई जाएगी।

आरडी पब्लिक स्कूल के प्राचार्य हेमंत मेहर द्वारा कलेक्टर और जिला शिक्षा अधिकारी को स्कूल में अध्ययनरत इन सभी 11 बच्चों की सूची सौंपी। प्राचार्य श्री मेहर ने बताया कि इसके अतिरिक्त भी खण्डेलवाल परिवार द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर लगभग एक सैकड़ा विद्यार्थियों की आर्थिक रूप से मदद की जाती है।