खजुराहो के मंदिर मे मिलता है, जीवन जीने की कला का दर्शन:: संत देवकीनंदन ठाकुर

5:27 pm or September 6, 2021
खजुराहो के मंदिर मे मिलता है, जीवन जीने की कला का दर्शन:: संत देवकीनंदन ठाकुर

रवींद्र व्यास

खजुराहो 5 सितंबर ;अभी तक;    खजुराहो के मंदिर देखने के बाद यह सिद्ध हो गया है कि भारतीय संस्कृति  सुंदर , पवित्र और  उद्देश्य परक  है ।  यह बात देश के जाने माने कथाकार श्री देवकीनंदन ठाकुर ने खजुराहो के मतंगेश्वर  महादेव मंदिर में पूजा अर्चना पश्चात पत्रकारों से चर्चा करते हुए कही।
                   संत देवकीनंदन ने कहा कि यहां के मंदिरों में जहां अंदर भगवान के दर्शन होते हैं तो वही बाहर यह भी सीखने को मिलता है कि हमें अपने गृहस्थ जीवन को किस तरीके से संचालित करना है।  किस स्थिति में चलाना है , उन्होने कहा कि उन्हें यहां आकर बहुत अच्छा लगा ।
                   खजुराहो के स्थानीय लोगों ने देश के ख्याति प्राप्त कथाकार श्री देवकीनंदन जी ठाकुर एवं बागेश्वर धाम के श्री धीरेंद्र कृष्ण जी शास्त्री का  स्वागत ढोल नगाड़ों के साथ एवं पुष्प वर्षा करते हुए किया  ।