जिन्दा महिला की फर्जी पीएम रिपोर्ट बनाकर नकली एफआईआर से 4 लाख रुपये निकाल लिए गए 

छिंदवाड़ा से महेश चांडक
छिंदवाड़ा एक सितम्बर ;अभी तक;  छिंदवाड़ा के बौहनाखैरी फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र मामले मैं एक बाद एक नई चीजे सामने आ रही है जहा मुख्य आरोपी सचिव राकेश चंदेल एवं अन्य साथियो ने मिलकर ग्राम बौहनाखैरी निवासी महिला किरण मालवी को छिंदवाड़ा कुण्डीपुरा थाना अंतर्गत घाट परासिया के बंजारी मंदिर के पास दिनांक 14 जनवरी 2020 मैं जिन्दा महिला को एक सड़क हादसे मैं मरा दिखा दिया गया था जिसके बाद पंचायत मैं फर्जी एफआईआर बनाकर और फर्जी तरीके से पीएम रिपोर्ट प्रस्तुत कर कर्मकार भवन एवं सनिर्माण मंडल योजना से दुर्घटना अनुग्रह राशि 4 लाख रुपये निकाल लिए गए जो सचिव के खाते मैं ट्रांसफर हुई है यह मामला सामने आने के बाद पास विभाग के बीच हड़कंप मचा हुआ है
                  यह मामला संज्ञान मैं आने के बाद कृषि एवं प्रभारी मंत्री कमल पटेल ने तस संवाददाता से  चर्चा के दौरान कहा की यह बड़े सिंडिकेट का मामला हो सकता है मेने एसपी विवेक अग्रवाल को एसआईटी गठन कर जांच करने के तत्काल निर्देश दिए है कोई भी दोषी हो उसे न छोड़ा जाये सख्त से सख्त कार्यवाही की जाये साथ ही जो भी पीड़ित है उनको पुनः जीवित सत्यापित कर उनके जॉब कार्ड के साथ पीड़ित महिला को राशन सहित अन्य सुविधाओं को शीघ्र दिया जाये
             जिले के एसपी विवेक अग्रवाल ने बताया की मुख्य आरोपी सचिव राकेश चंदेल को गिरफ्तार कर लिया गया है साथ ही अन्य साथियो से सख्ती से पूछताछ की जा रही है
               जिला जनपद पंचायत सीईओ सी एल मरावी ने बताया की सभी आरोपियों और उनके रिश्तेदारों के खाते सीज कर दिए गए है जिनके खाते मैं 2 – 2 लाख रुपये की राशि डाली गई थी
             पीड़िता किरण मालवी ने बताया की इस बारे मैं कुछ भी नहीं पता है मुझे राशन मिलना बंद हो गया है मुझे न्याय चाहिए