नेशनल लोक अदालत संपन्न ; एक प्रकरण में 15 लाख 41 हजार एवं एक अन्य प्रकरण में 11 लाख 40 हजार अवार्ड पारित

मयंक शर्मा

बुरहानपुर/11 सितम्बर, ;अभी तक; -राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर म.प्र. के निर्देशानुसार नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया। प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री अतुल्य सराफ के मार्गदर्शन में आज नेशनल लोक अदालत संपन्न हुई। नेशनल लोक अदालत का शुभारंभ प्रधान जिला न्यायाधीश श्री अतुल्य सराफ, प्रधान न्यायाधीश कुटुम्ब न्यायालय श्री मोहन पी. तिवारी अन्य न्यायाधीशगण, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री आशुतोष शुक्ल, अधिवक्ता संघ की तदर्थ समिति के संयोजक द्वारा किया गया। उक्त अवसर पर तदर्थ समिति के सदस्यगण एवं अन्य अधिवक्तागण, समाजसेवी सदस्य, न्यायिक कर्मचारीगण उपस्थित रहे।
नेशनल लोक अदालत में प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश के न्यायालय में लंबित 02 क्लेम प्रकरणों में समझौता होकर सबसे अधिक अवार्ड पारित किया गया। जिसमें एक प्रकरण में 15 लाख 41 हजार एवं एक अन्य प्रकरण में 11 लाख 40 हजार अवार्ड पारित किया गया। इसी प्रकार कुटुम्ब न्यायालय में बहुत से पारिवारिक मामलों में राजीनामा कर पति-पत्नि एक साथ रहने के लिए राजी हुए। मामलों के निराकरण के साथ नागरिकों को पौधा देकर सम्मानित किया गया।
सचिव जिला विधिक प्राधिकरण श्री आशुतोष शुक्ल ने जानकारी देते हुए बताया कि न्यायालय में गठित 13 खंडपीठों में राजीनामा योग्य विभिन्न प्रकार के 2399 प्रकरण रखे गयें जिसमें न्यायालय में लंबित 168 प्रकरण का निराकरण किया गया। जिसमें 2 करोड़ 70 लाख 93 हजार 727/- अवार्ड राशि पारित की गई। आयोजित नेशनल लोक अदालत में लगभग 418 व्यक्ति लाभान्वित हुये। प्रीलिटिगेशन बैंकों के प्रकरण, नगर पालिका के सम्पत्ति कर, जलकर तथा विद्युत विभाग, बीएसएनएल, परिवार परामर्श केन्द्र, वन स्टॉप सेंटर के प्रकरण भी रखे गए। उक्त लोक अदालत में प्रीलिटिगेशन के 7549 प्रकरण रखे गये जिसमें से 745 प्रकरण निराकृत किये गये जिसमें 77 लाख 93 हजार 874/- अवार्ड राशि पारित की गई। जिसमें 752 व्यक्ति लाभान्वित हुये।