पन्ना पुलिस ने अंधे हत्याकांड का किया खुलासा, तीन दोस्तो ने मिलकर अपने ही दोस्त को उतारा मौत के घाट

9:44 pm or September 13, 2021
पन्ना पुलिस ने अंधे हत्याकांड का किया खुलासा। पैसों के लेन-देन को लेकर की गई थी हत्या। .तीन दोस्तो ने मिलकर अपने ही दोस्त को उतारा मौत के घा
पन्ना से दिलीप शर्मा दीपक
पन्ना १३ सितम्बर ;अभी तक;  पन्ना पुलिस ने सनसनीखेज अंधी हत्या का खुलासा किया है। जिसमे पेसो के लेन-देन को लेकर मृतक के दोस्त ने ही अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर उसकी गोली मारकर निर्मम हत्या कर दी थी।तीनो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने इन आरोपियों के पास से घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल, तीन मोबाइल एवं मृतक के कमरे से गायब खून लगे दो कंबल एक रजाई और चादर भी जप्त की है।
            पुलिस अधीक्षक का कहना है कि दिनांक 09 सितंबर को  फरियादी ने थाना कोतवाली पन्ना में आकर रिपोर्ट किया कि मेरा छोटा भाई पन्ना में किराये के मकान में रहता था जो दिनांक 06 सितंबर 2021 को शाम करीब 06 बजे से कहीं गायब है पिछले 02 दिन से फोन नहीं उठा रहा है जिसके बारे में मैनें अपने परिवार के साथ मिलकर अपने रिश्तेदारी में फोन लगाकर पता किया जो कोई पता नही चला तो मैने उसके किराये के कमरा मे जाकर देखा तो कमरे में ताला लगा मिला आस पास किराये से रहने वाले लोगो से भी पूँछा, तो उनके द्वारा बताया गया कि वह पिछले दो-तीन दिन से कमरा नही आया और फोन लगाने पर फोन नहीं उठा रहा है । फरियादी की रिपोर्ट पर थाना कोतवाली पन्ना में गुमने की रिपोर्ट पर गुमसुदगी की रिपोर्ट दर्ज की  गई ।
                 पुलिस के द्वारा घटना को गंभीरता से लेते हुये पुलिस टीम का गठन किया गया जिसमें पुलिस सायबर सेल टीम पन्ना को शामिल किया जाकर घटना के संबंध में जानकारी एकत्रित करते हुये पुलिस टीम द्वारा घटनास्थल के आसपास एवं पन्ना शहर में लगे सी.सी.टी.व्ही. कैमरो के माध्यम से फुटेज देखे गये पुलिस टीम द्वारा गुमशुदा के बैंक खाता की जानकारी निकलवाये जाने पर पता चला कि घटना के बाद भी गुमशुदा व्यक्ति के बैंक खाता से पन्ना स्थित अलग-अलग ए.टी.एम. बूथों एवं मोबाइल वॉलेट से पैसो का लेन-देन हुआ है उक्त लेन-देन के बारे में पुलिस द्वारा पता किया गया तो जानकारी मिली कि गुमशुदा व्यक्ति के 01 करीबी दोस्त को गुमशुदा व्यक्ति के बैंकिंग के सभी गोपनीय पासवर्ड एवं ए.टी.एम. कार्ड का पिन पता था पूर्व में भी गुमशुदा व्यक्ति के पैसो को ए.टी.एम. से यही दोस्त निकालता था । बैकिंग जानकारी एवं पुलिस सायबर सेल पन्ना से मिली जानकारी के आधार पर  पुलिस द्वारा संदिग्ध व्यक्ति को पुलिस अभिरक्षा में लिया जाकर पूँछताछ की गई जिसके द्वारा बताया गया कि पेसो के लेनदेन को लेकर मृतक व्यक्ति द्वारा शराब पीकर मुझे गाली-गलौज करता था इस बात को लेकर मैनें अपने 02 दोस्तो के साथ मिलकर उसकी गोली मारकर हत्या कर दी और उसकी लाश को जंगल मे फेंक दिया।