पर्वाधिराज पर्युषण में बह रही धर्म की गंगा

8:22 pm or September 9, 2021
पर्वाधिराज पर्युषण में बह रही धर्म की गंगा
महावीर अग्रवाल
मंदसौर ९ सितम्बर ;अभी तक;  श्वेतांबर जैन समाज के पर्वाधिराज पर्युषण के दौरान इन दिनों जिलेभर के जैन मंदिरों, उपासरों आदि में धर्म गंगा बह रही है। इसी दौरान मंदिरजी में प्रतिष्ठित प्रभु की प्रतिमाओं की नयनाभिराम आंगी रचना भी की जा रही है। उक्त चित्र जनकूपुरा स्थित प्राचीन श्री अजीतनाथ जी।मंदिर का। गौरतलब है कि इन दिनों चल रहे चतुर्मास में पपू साध्वी श्री डॉक्टर अमृतरसा श्रीजी मसा आदि ठाना की पावन निश्रा में 108 अठाई महोत्सव का लक्ष्य रखा था जो तपस्वियों के उत्साह के चलते 135 पर पहुँच गया।
                यह जानकारी देते हुए सुश्रवाक अंकुश सगरावत ने बताया कि पर्यूषण पर्व के अवसर पर जनकुपूरा स्थित श्री अजीतनाथ जैन मंदिर में प्रतिदिन सुन्दर व आर्कषक अंगरचना की जा रही हे। जिसके दर्शन वंदन करने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु मंदिर में पधार रहे है। अंगरचना की टीम प्रतिदिन घंटों मेहनत कर भगवान की सुन्दर अंगरचना का निर्माण कर रही है। जिसमें प्रतिदिन प्रकाश चपरोत, हेमंत  सगरावत, अंकुश सगरावत, आयुषी डोसी, नमन छिंगावत, अक्षय दुग्गड़, धवल जैन, प्रियांशी डोसी, सिद्धि पोरवाल सहयोग कर रहे है।