पहले एक-एक लाख रुपए मांगे, नही मिले तो दे रहे हे जान से मारने की धमकी

मयंक शर्मा
खंडवा १९ जून ;अभी तक;  पत्रकार व खुद को आरटीआई कार्यकर्ता बताकर बेनामी रकम बटोरने वाला
एक गिरोह जिले में  सक्रिय है।अब गिरोह के निशाने पर  छैगांवमाखन जनपद के मनरेगा के अतिरिक्त कार्यक्रम
अधिकारी नितिन महाजन है। उन्होने अपनी पीडा के साथ आवेदन देकर पुलिस
कप्तान से गिरोह के इन कथित लोगों पर एफआईआर दर्ज कराने की मांग की है।
अधिकारी ने कहा कि उससे 1-1 लाख रुपए मांगे गये। नहीं देने पर जान से
मारने की धमकी दी गई है।
श्री महाजन ने एसपी को दिए आवेदन में बताया कि लक्ष्मण  व आशीष द्वय
निवासी खंडवा  द्वारा उसे लगातार ब्लैकमेल किया जा रहा है। इनके द्वारा
इंदौर से प्रकाशित होने वाले एक अखबार में भ्रामक, तथ्यहीन समाचार भी
प्रकाशित किए गए हैं। बार-बार जनपद कार्यालय आकर धमकाते हैं। कहते हैं कि
दोनों को 1-1 लाख रुपए नहीं दिए, तो जान से मार देंगे। मेरी शिक्षक पत्नी
को भी नौकरी नहीं करने देंगे।
महाजन ने कहा कि  इन लोगों ने भ्रामक जानकारी के साथ सोशल मीडिया पर एक
पोस्ट वायरल कर दिया है। जनपद क्षेत्र के कई सरपंचों व लोगों से मेरे
खिलाफ शिकायतें करवाकर मुझे ब्लैकमेल किया जा रहा है। मानसिक रूप से
त्रस्त हो चुका है, यदि मैं व परिवार का कोई सदस्य आत्महत्या करता है तो
उसके दोषी ये दोनों लोग रहेंगे।
एसपी विवेकसिंह ने कहा कि आवेदन में शिकायत गंभीर है। जांच उपरांत उचित
कार्रवाही होगी।