प्लास्टिक, प्रदूषण एवं निवारण विषय पर बेविनार एवं रैली का आयोजन 

6:08 pm or September 8, 2021
प्लास्टिक, प्रदूषण एवं निवारण विषय पर बेविनार एवं रैली का आयोजन 
सौरभ तिवारी
होशंगाबाद ८ सितम्बर ;अभी तक;  शासकीय गृहविज्ञान स्नातकोत्तर महाविद्यालय होशंगाबाद में बुधवार को राष्ट्रीय हरित कोर योजना के अन्तर्गत प्लास्टिक, प्रदूषण एवं इसका निवारण विषय पर बेविनार एवं रैली का आयोजन किया गया।
              कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य वक्ता डॉ. एमडी भारती चीफ मेडिकल हेल्थ ऑफीसर एवं अतिथि वक्ता दुर्गेश राने सहायक प्राध्यापक रसायन शास्त्र ने बताया कि प्लास्टिक का अविष्कार विज्ञान का बरदान और अभिशाप दोनों ही बन गया है। प्लास्टिक हमारे बीच स्टेशनरी, खिलौने, टंकिया, कच्चे घरों की छत, लाइट फिटिंग, बैग, फर्नीचर, दवाईयों की बॉटल आदि के रूप मे हमारे बीच विद्यमान है। प्लास्टिक कम खर्चीली, हल्की, जंगरोधी एवं टिकाउ होने के कारण मानव की जरूरत बन गई है। प्लास्टिक का टिकाउपन ही मानव एवं पर्यावरण के लिए घातक बन गया है। उपयोग के पश्चात्  अनुपयोगी प्लास्टिक पर्यावरण में पहुचकर पर्यावरणीय कारकों से रासायनिक क्रिया करके अनेक जहरीली गैसे एवं केन्सरकारी पदार्थो का निर्माण करने लगती है।
             इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ श्रीमती कामिनी जैन ने प्लास्टिक के अन्य विकल्पो के रूप जैसे- जूट, गन्ने आदि वनस्पति के रेशों से निर्मित बेग आदि को प्रचलन मे लाने पर जोर दिया एवं बताया कि, प्लास्टिक से बनी बॉटल, कंटेनर आदि को गमलों के रूप में पुनः उपयोग कर एवं इस प्रकार के कार्यक्रमों से सामाजिक चेतना लाकर, प्लास्टिक के उपयोग को कम करके प्रदूषण की समस्या को कम किया जा सकता है।
ईको क्लब के प्रभारी डॉ दीपक अहिरवार ने बताया कि 25 माईक्रोन से पतली प्लास्टिक पॉलीथीन जो सबसे ज्यादा हानिकारक है को जैव तकनीकी के माध्यम नष्ट करने पर शोध हो रहे हैं। बैज्ञानिको ने नायलॉन-2, नायलॉन-6 एवं पी.एच.बी.व्ही, प्लास्टिक का निर्माण किया है जो कम समय मे अपघटित होकर कम प्रदूषण फैलाते है।
              प्लास्टिक, प्रदूषण पर जागरूकता रैली का आयोजन किया गया। जिसमें ईको क्लब द्वारा आम जन को सिंगल यूज प्लास्टिक को छोडकर ईको फ्रेंडली बेग अपनाने को प्रेरित किया गया।
            रैली में डॉ हर्षा चचाने, डॉ. कंचन ठाकुर, डॉ. रागिनी सिकरवार, डॉ रीना मालवीय डॉ दशरथ मीना, डॉ संगीता पारे, रफीक अली, चारू तिवारी, अजय तिवारी सहित अधिक संख्या छात्राए उपस्थित रहीं। बेवीनार का संचालन डॉ श्रृद्धा गुप्ता ने किया एवं आभार धीरज खातरकर ने व्यक्त किया। कार्यक्रम में अन्य प्राध्यापक एवं अधिक संख्या मे छात्राएॅ ऑनलाइन उपस्थित रहीं।