लगातार बारिश से सोयाबीन-मूंगफल्ली में होने लगा अंकुरण, नुकसान शुरू

मयंक भार्गव

बैतूल २७ सितम्बर ;अभी तक;  खरीफ सीजन फसलों की कटाई के दौर में बैतूल जिले में हो रही लगातार बारिश से खेतों में खड़ी सोयाबीन- मूंगफल्ली की फसलों में अंकुरण होने लगा है। बारिश का सिलसिला जारी रहने से मक्का, मूंग, उड़द को भी नुकसान होने की आशंका कृषि वैज्ञानिकों द्वारा जताई जा रही है। मौसम के पूर्वानुमानों की मानें तो अभी लगभग एक सप्ताह तक बारिश से राहत नहीं मिलने वाली है। इधर मौसम विभाग ने आगामी दो तीन दिनों में बैतूल सहित मप्र के देढ़ दर्जन जिलों में भारी बारिश की संभावना को लेकर यलो अलर्ट जारी किया है। बैतूल जिले में अभी तक 39.48 इंच औसत बारिश हो चुकी है। जिले में बारिश का कोटा पूरा होने में अब सिर्फ सवा तीन इंच बारिश की आवश्यकता है। बैतूल जिले की औसत सामान्य वर्षा 42.69 इंच है।
सावन एवं भादों महिने में बैतूल जिले में झमाझम बारिश के बाद क्वार महिने में भी रूक-रूककर तेज बारिश हो रही है। बीते दिनों में जिले के आइसोलेटेड एरिया में तेज बारिश होने से नदी-नाले उफान पर आ गये तथा खेतों में जलभराव हो गया। शनिवार को बैतूल जिले में 0.69 इंच औसत वर्षा रिकार्ड की गई। इस दौरान घोड़ाडोंगरी, शाहपुर, मुलताई में देढ़ से दो इंच तथा प्रभातपट्टन, आमला, भैंसदेही में आधा इंच बारिश हुई। रविवार को भी जिला मुख्यालय बैतूल सहित अन्य क्षेत्रों में रूक-रूककर बारिश होती रही।
बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से मप्र के बड़े इलाके में झमाझम बारिश हो रही है। मौसम केन्द्र भोपाल द्वारा 26 सितंबर को जारी मौसम बुलेटिन में बैतूल सहित प्रदेश के 18 जिले में कहीं-कहीं पर भारी बारिश की संभावना जताकर यलो अलर्ट जारी किया है। मौसम बुलेटिन के मुताबिक तीन दिनों के दौरान कहीं-कहीं पर ढाई से साढ़े चार इंच तक बारिश हो सकती है।
भीमपुर, भैंसदेही, घोड़ाडोंगरी में बारिश का कोटा पूरा
बैतूल जिले में लगातार हो रही बारिश से अभी तक औसत 39.48 इंच बारिश हो चुकी है। जिले के भैंसदेही, भीमपुर एवं घोड़ाडोंगरी में बारिश का कोटा पूरा हो चुकी है। जबकि जिले में बारिश का कोटा पूरा होने में अब सिर्फ 3.27 इंच बारिश की जरूरत है। जिले के भीमपुर में सर्वाधिक 57.53 इंच तथा आठनेर में सबसे कम 23.84 इंच बारिश हुई है। जबकि बैतूल में बारिश का आंकड़ा 32.89 इंच पहुंच गया है।