विकास का महामार्ग बनेगा दिल्ली -मुंबई एक्सप्रेस वे – केंद्रीय मंत्री गड़करी 

अरुण त्रिपाठी
रतलाम ,16 सितंबर १६ सितम्बर ;अभी तक;  केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी गुरुवार को मध्य प्रदेश में बन रहे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे के निर्माण कार्य का जायजा लिया| रतलाम जिले में जावरा के पास ग्राम निमन में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे विकास का महामार्ग बनेगा| इससे रोजगार के अवसर बनेंगे,जिससे मध्य प्रदेश राजस्थान और गुजरात सहित अन्य प्रदेशो के पिछड़े इलाकों में संपन्नता आएगी|
                सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री निर्धारित समय से करीब एक घंटा देरी से पहुंचे थे| एक्सप्रेस वे का निरीक्षण करने के बाद कार्यक्रम स्थल पर उन्होंने प्रदेश में बनने वाले 245 किलो मीटर लम्बे एक्सप्रेस वे का डेमो देखा|
              श्री गडकरी ने मंच से संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस वे दुनिया का सबसे लंबा हाईवे है। इसकी लंबाई करीब 1350 किमी है। विशेषता ये है कि इससे दिल्ली से मुम्बई की यात्रा मात्रा 12 घंटे में पूरी हो सकेगी। ये हाईवे विशेषकर मध्यप्रफेश और कुछ राज्यो में आर्थिक रूप से पिछड़े क्षेत्रो से गुजर रहा है। इससे युवाओं को रोजगार के अनेक अवसर प्राप्त होंगे। यहाँ के हैंडलूम, हेंडीक्राफ्ट, लोककला,किसानी, बागवानी को भी बहुत बड़ा बाजार मिलेगा। पहले फ़ैज़ में ये 8 लेन का है।  बाद में 12 लेन का बनेगा| एक्सप्रेस वे के लिए किसानों को  भूमि का डेढ़ गुना अच्छा मुआवजा दिया है। मध्य प्रदेश में  245 किमी में से 106 किमी हाइवे  बन चुका है| इसका निर्माण अच्छा हुआ है।
               श्री गडकरी ने केंद्र की भावी योजनाओ पर प्रकाश डाला| उन्होंने कहा कि एक्सप्रेस वे से प्रदेश के अन्य नगरों को जोड़ने के लिए फोरलेन बनाए जायेंगे| एक्सप्रेस वे  पर 670 हेक्टेयर क्षेत्र में जनसुविधा केंद्र बनेगे| एक्सप्रेस वे का पूरा कार्य मार्च 2023 तक पूरा कर लिया जाएगा
काश्यप के पत्र पर रतलाम को सौगात देने की घोषणा
              कार्यक्रम में सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री गडकरी ने रतलाम को बड़ी सौगात देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि रतलाम दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस वे का सेन्टर है। विधायक चेतन्य काश्यप ने उन्हें हाल ही में रतलाम में 1800 हेक्टेयर में विकसित होने वाले निवेश क्षेत्र को एक्सप्रेस वे से जोड़ने का पत्र  दिया है| इस भूमि पर मध्य प्रदेश सरकार के सहयोग से बड़ा लॉजिस्टिक पार्क एवं इंड्रस्ट्रियल क्लस्टर बनाने के लिए केंद्र तैयार है | इसके लिए प्रदेश सरकार से पत्र मिलने के बाद एमओयू किया जाएगा|  रतलाम को इससे निश्चित बहुत आर्थिक लाभ के अवसर मिलते रहेंगे।