समेरिटंस स्कूल में उत्साह के साथ मनाया शिक्षक दिवस

7:02 pm or September 5, 2021
समेरिटंस स्कूल में उत्साह के साथ मनाया शिक्षक दिवस
सौरभ तिवारी
होशंगाबाद ५ सितम्बर ;अभी तक;  शिक्षक ही किसी समाज, देश और समस्त विश्व की उन्नति और विकास का आधार हैं। शिक्षक किसी भी परिस्थिति और परिवेश में साधारण नहीं होता। वह सदैव असाधारण और सम्मानीय होता है। एक श्रेष्ठ शिक्षक ही श्रेष्ठ, संस्कारवान और सुसंस्कृत समाज का निर्माण कर सकता है। यह बात शिक्षक दिवस के अवसर पर स्थानीय समेरिटंस स्कूल में रविवार को आयोजित शिक्षक दिवस के आयोजन के अवसर पर कही। इस दौरान समेरिटंस गु्रप ऑफ स्कूल के शिक्षक-शिक्षिकाओं ने प्रेरणास्पद, हास्य-व्यंग्य और सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए।
               डॉ शर्मा ने कहा कि हमारे समाज में गुरू का विशेष महत्व होता है। गुरू और शिक्षक में अधिक अंतर नहीं है। गुरू का अर्थ होता है श्रेष्ठ या महान। गुरू से ही गुरूत्वाकर्षण शब्द बना है। गुरू में आकर्षण होता है। जो गुरू अर्थात महान होता है, उसमें एक प्रकार का आकर्षण होता है। सब उसके आसपास खिंचे चले आते हैं और चारों ओर चक्कर लगाते हैं। इस संबंध में उन्होंने सौर मंडल का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा कि हमें अपने जीवन में श्रेष्ठ गुरू बनाना चाहिए। शिक्षक दिवस के अवसर पर उन्होंने देश के द्वितीय राष्ट्रपति डॉ राधाकृष्णन को भी स्मरण किया। उन्होंने कहा कि अपनी प्रतिभा के बल पर वे देश के सर्वोच्च पद तक पहुंचे। हमें उनका आदर्श सामने रखकर ही अपना कार्य करना चाहिए। उन्होंने सभी को शुभकामनाएं प्रेषित कीं।
              उन्होंने वर्तमान समय की चुनौतियों की चर्चा करते हुए कहा कि कोविड 19 का समय शिक्षकों के लिए सबसे अधिक चुनौतीपूर्ण रहा। इस दौरान हमें स्वयं और विद्यार्थियों को इस बीमारी से सुरक्षित रखते हुए उन्हें शिक्षा से जोड़े रखना था। ऐसे समय में हमने चुनौती को स्वीकार किया और ऑनलाइन शिक्षण के विकल्प को बेहतर से बेहतर तरीके से उपयोग करते हुए बच्चों को ज्ञान की धारा से जोड़े रखा। इस दौरान शिक्षकों को भी नया सीखने की प्रक्रिया से गुजरना पड़ा है। यह कई शिक्षकों के लिए नया अनुभव था।
                   इस अवसर पर ग्रुप की मुख्यशाखा सांदीपनि परिसर के अलावा माता महाकाली परिसर राजा मोहल्ला, आंजनेय परिसर बाबई, ज्ञान-विज्ञान परिसर पिपरिया, विजयासन परिसर बायां जिला सीहोर और सोहागपुर शाखा का स्टाफ भी मौजूद रहा। सभी ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। संस्था द्वारा सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं का सम्मान किया गया और उन्हें उपहार भेंट किए गए। कार्यक्रम में स्कूल संचालन समिति के अध्यक्ष  संतोष शर्मा, ब्रह्मकुमारी सेलम दीदी, नीलम शर्मा, उपाध्याय गुरूजी, प्राचार्यगण प्रेरणा रावत, निधि दुबे, कल्पना शर्मा, जागृति सिंह, अपर्णा तिवारी, पिंकी झा सहित आरके सिंह, राजेंद्र रघुवंशी, शिखा खम्परिया, विक्रांत खम्परिया, अमृता शर्मा सहित अन्य शिक्षक-शिक्षिकाएं मौजूद रहे।