हमने कोरोना से क्या सीखा ?

सृष्टि सिन्हा 

 

१. ज़िन्दगी मिलेगी न दोबारा , जो जो ख्वाहिशे या शौक  हमने सोच के रखीं हैं उन्हें पूरा करने की भरपूर कोशिश करना है ।

2 . अपने पति /पत्नी से बना के रखिये , इस महामारी ने हमें ये तो सीखा ही दिया है के कोई और नहीं बल्कि घर वाला या घर वाली ही बुरे समय में सेवा करेंगे ।

3 . अपने पडोसी /रिश्तेदारों से अच्छे सम्बन्ध बना के रखिये , आखिर में खाना तो इस समय उन्होंने दिया ।

4 . दिल में लम्बे समय तक किसी के लिए गलत भावना नहीं रखना चाहिए , कोरोना से जो मरीज़ गंभीर हुए वह अपने आखरी समय में डॉक्टरों से यही बोलकर दुनिया से विदा हो गए , उन्हें आखरी समय में इस बात का अहसास हुआ के लम्बे समय तक अपने परिजनों के प्रति गुस्सा या गलत भावना रखना उनकी गलती थी ।

5 . क्या ज़रूरी है क्या नहीं उसमे फर्क करना , इस महामारी में सबके खर्चे बहुत कम हो गए उससे हमें ये तो समझ आ गया क्या हमारे लिए ज़्यादा ज़रूरी है और किस चीज़ के बिना हमारा काम चल जायेगा

6 . सिर्फ वृक्षारोपण नहीं ,बल्कि उसके बाद उनकी लम्बे समय तक देख भाल करना , आजकल लोग व्रक्षारोपण फोटो लेने के लिए करते हैं , हमें भूलना नहीं चाहिए वृक्षों की देख भाल एक छोटे बच्चे की तरह ज़िन्दगी भर करनी होती है ।

7 . बुरे समय में मदद , बहुत से लोगों ने अपनों को खोया है और कमाई का साधन खोया है  , उनकी मदद करने की हमें कोशिश करनी है ।

8 . अपने माता पिता व घर के बुज़ुर्गों के लिए समय निकालना   , जब बच्चों को घर पे रहना पड़ा तब समझ आया के घर में माता पिता को उनके बिना कैसा लगता था और उनसे बात करना कितना ज़रूरी है , और कोरोना के बाद लगातार माता पिता के संपर्क में रहना है ।

9 . आसपास स्वच्ता बनाये रखना , साफ़ सफाई आसपास की और शरीर की कितनी ज़रूरी है इस महामारी ने बहुत अच्छे से सीखा दिया है ।

10 . पॉजिटिव रहना ज़रूरी है , बीमारी को हम ही ठीक कर सकते हैं अगर हम पॉजिटिव हैं और अगर कोई बीमारी से जूझ रहा है तो उसका मनोबल बढ़ाना है ।

11 अच्छा खान पान और फिट रहना ज़रूरी है , अच्छा खान पान और एक्सरसाइज हमें बीमारी से लड़ने में मदद करता है ।

12 हेल्थ वर्कर्स के प्रति सम्मान रखना , इस समय उन्होंने बहुत  से लोगों को मौत के मुँह से निकाला है , उनका जितना शुक्रिया किया जाये वह कम  है ।

आपने क्या सीखा ? अपनी राय बताइये और इस आर्टिकल को पूरा करिये ।