50 रुपए अतिरिक्त लेकर बेच रहा था रेलवे ई टिकट

मयंक भार्गव

बैतूल ११ जून ;अभी तक;  शहर के गंज क्षेत्र में एक आनलाइन कियोस्क सेंटर द्वारा अनाधिकृत रूप से रेलवे यात्रा के लिए ई टिकट बनाने का खुलासा हुआ। गुरूवार को आरपीएफ थाना बैतूल सीआईबी नागपुर की संयुक्त टीम ने छापामार कर कियोस्क संचालक को हिरासत में लिया। टीम ने यहां से पुरानी तारीख की 24 ई टिकट बरामद की। कियोस्क संचालक द्वारा प्रति यात्री 50 रुपए अधिक लेकर रेलवे टिकट बेची जा रही थी। टीम ने कियोस्क सेंटर से एक कम्प्यूटर सेट और प्रिंटर बरामद किया है। आरोपी के खिलाफ धारा 143 रेलवे एक्ट के तहत कार्यवाही कर उसे जमानत पर छोड़ दिया है।

आरपीएफ थाना प्रभारी बैतूल वीके सिंह ने बताया कि शहर के गंज क्षेत्र स्थित कौशल कम्यूनिकेशन एण्ड एमपी ऑनलाइन कियोस्क सेंटर द्वारा अनाधिकृत रूप से रेलवे ई टिकट बेचने की जानकारी मिली थी। गुरूवार को सीनियर डीएससी नागपुर और एएससी के नेतृत्व में आरपीएफ बैतूल सीआईबी नागपुर की संयुक्त टीम ने छापा मारा। यहां कियोस्क संचालक कुलदीप सिंह पिता स्व. बलजीत सिंह (34) निवासी जवाहर वार्उ बैतूल द्वारा आईआर-सीटीसी की साइट से अनाधिकृत रूप से रेलवे की ई टिकट बनाकर बेची जा रही थी7 कुलदीप सिंह द्वारा प्रति यात्री 50 रुपए कमीशन वसूला जा रहा था। उसके पास टिकट बनाकर बेचने का कोई वैध लाइसेंस भी नहीं था।

श्री सिंह ने बताया कि कुलदीप सिंह द्वारा विगत 18-19 मई को ही 24 ई टिकट बनाई गई थी जिसकी कुल राशि 27 हजार 45 रुपए थी। संयुक्त टीम ने आरोपी कुलदीपसिंह के खिलाफ आरपीएफ थाना बैतूल में अपराध क्रमांक113/2021 धारा 143 रेलवे एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया गया। कुलदीप की दुकान से एक कम्प्यूटर सेट, प्रिंटर भी जब्त किया गया। इस मामले की जांच आरपीएफ थाने में पदस्थ एसआई सचिन सोनुले द्वारा की जा रही है। संयुक्त टीम में आरपीएफ थाना बैतूल के एसआई बीके राम, सचिन सोनुले, बलवीर सिंह एवं सीआईबी नागपुर के एसआई आरके यादव एवं स्टाफ शामिल थे।