अखिल विश्व गायत्री परिवार मन्दसौर द्वारा गायत्री जयंती व गंगा दशहरा पर्व मनाया गया 

महावीर अग्रवाल

मन्दसौर  २० जून ;अभी तक; – गायत्री परिवार मन्दसौर द्वारा गायत्री जयंती व गंगा दशहरा पर्व सोशल डिस्टेंसींग का पालन करते हुए प्रभात फेरी निकालकर, 9 कुण्डिय गायत्री महायज्ञ कर, मनाया गया। गायत्री शक्तिपीठ के मुख्य प्रबंध ट्रस्टी श्री नरेश त्रिवेदी ने बताया की गायत्री जयंती व गंगा दशहरा प्रति वर्ष एक साथ आता है, गायत्री सद्बुद्धि की देवी है तो गंगा पवित्रता देने वाली हैं। आज के दिन गायत्री माता इस धरती पर अवतरित हुई और आज ही के दिन माँ गंगा का अवतरण भी भारत की इस दिव्य भुमि पर हुआ, दोनो ही पाप नाशनी है, जो हमारे पापो को समाप्त करती है। प्रत्येक मनुष्य अपने जीवन को पवित्र, दिव्य, आनन्दमय बनाने के लिये माँ गायत्री से अपना नाता जोड़े, गायत्री महामंत्र का नित्य जप करे, लेखन करें इससे हमारा सम्बन्ध उस महाशक्ति से बनेगा और हमे सद्बुद्धि की प्राप्ति होगी जीवन सत्कर्मो मे लगेगा और उसका परिणाम जीवन मे सुख और आनन्द ही होगा।
                    शक्तिपीठ के सहायक प्रबंध ट्रस्टी श्री पन्नालाल मालवीय ने बताया की आज सम्पुर्ण मानव समाज मे जो बुराईयां शराब, गुटखा, पान, तम्बाखू, बीड़ी, सिगरेट, व्यभिचार, भ्रष्टाचार आदि के रूप मे दिखती है, यह मानव की दुर्बुद्धि का ही परिणाम है। आज दुनिया मे जो कुछ गलत हो रहा है वह मानव की दुर्बुद्धि का ही परिणाम है और जो कुछ अच्छा दिख रहा है वह सद्बुद्धि का परिणाम है। इसलिए समस्त मानव समाज सद्बुद्धि देने वाली  माँ गायत्री से जुड़े, इन बुराईयों को छोड़े और जीवन लक्ष्य को प्राप्त करें।